Blog

VC Sajjanar
Bureau | December 6, 2019 | 0 Comments

who is the VC Sajjanar

हैदराबाद दुष्कर्म और हत्या मामले में चारों आरोपियों के एनकाउंटर के बाद चर्चा में आए VC Sajjanar कौन हैं?

जैसे ही शुक्रवार सुबह तेलंगाना के पशु चिकित्सक के साथ दुष्कर्म और फिर उनकी हत्या के आरोपियों के मारे जाने के खबर फैली तो उसके साथ हैदराबाद पुलिस, VC सज्जनार, जस्टिस फ़ॉर दिश भी ट्रेंड होना शुरू हो गया। इनमें एक नाम खास था और वो वीसी सज्जनार का, जिन्हें एक एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में भी जाना जाता है। सज्जनार पुलिस आयुक्त हैं। 1996 बैच के एक आईपीएस अधिकारी सज्जनार ने 2008 में एक एसिड हमले के मामले के तीन आरोपियों को गोली मार दी थी। सोशल मीडिया उपयोगकर्ता इस संबंध में 2008 वारंगल एसिड हमले के मामले को भी याद कर रहे हैं। सज्जनार, नक्सल नेता नईमुद्दीन की हत्या में भी अपनी भूमिका के लिए जाने जाते हैं, जब सज्जनार आईजी स्पेशल इंटेलिजेंस ब्रांच थे।

2008 Warangal acid attack case

2008 में वारंगल एसिड अटैक भी चर्चा में आया था। उस दौरान सज्जनार वारंगल के एसपी थे। बता दें कि इस केस में भी तब लड़की पर एसिड फैंकने वाला को एनकाउंटर में मार गिराया गया था। यह तब हुआ जब आरोपी एस श्रीनिवास राव ने दो दोस्तों के साथ मिलकर इंजीनियरिंग छात्रा पर एसिड फेंका था। इसके पीछे की वजह श्रीनिवास का प्रपोजल ठुकरा देना था। फिर उस दौरान भी समाज गुस्से से भर गया, जहां सज्जनार की अगुआई में पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, कुछ घंटे बाद आरोपी एनकाउंटर में मारे गिराए गए थे।

अब का घटनाक्रम

तेलंगाना में वेटरनरी डॉक्टर की हत्या और सामूहिक दुष्कर्म के चारों आरोपी शुक्रवार तड़के एनकाउंटर में मारे गिराए गए। अब भी साइबराबाद कमिश्नर वीसी सज्जनार की अगुआई में पुलिस की एक टीम आरोपियों को लेकर घटनास्थल पर पहुंची थी। पुलिस का कहना है कि आरोपी रीक्रिएशन के दौरान पुलिसकर्मियों के हथियार छीनकर भाग रहे थे। इसी दौरान क्रॉस फायरिंग में चारों मारे गए। हालांकि, अब इस एनकाउंटर पर सवाल भी उठने लगे हैं।

सोशल मीडिया पर लोग दे रहे बधाई

बता दें कि हैदराबाद व देश भर में लोग इसे लेकर खुशी मना रहे हैं। वहीं संबंधित जगह पुलिस वालों पर फूल बरसाए जा रहे हैं। मिठाई खिलाई जा रही है। हालांकि, अब मानवाधिकार का मुद्दा भी ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा है।

हैदराबाद एनकाउंटर- पुलिसकर्मियों पर बरसे फूल, जया बोलीं- देर आए, दुरुस्त आए

हैदराबाद कांड: दुष्कर्म-हत्या के चारों आरोपी मुठभेड़ में ढेर, घटनास्थल पर ले गई थी पुलिस

खास बातें

  • हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया
  • ये मामला 27-28 नवंबर की रात का है, चारों आरोपियों ने स्कूटर पार्क करती महिला डॉक्टर को देखते ही रची साजिश
  • इन सभी आरोपियों को पुलिस रिमांड में रखा गया था, पुलिस चारों को घटनास्थल पर ले गई थी
  • हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। तेलंगाना पुलिस के अनुसार आरोपियों को राष्ट्रीय राजमार्ग-44 पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए ले जाया गया था। इस दौरान आरोपियों ने पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश की। इसके बाद पुलिस ने उनपर गोलियां चला दीं। इस मुठभेड़ में चारों आरोपियों की मौके पर ही मौत हो गई।

आत्मरक्षा में मारी गोली

शमशाबाद के डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने कहा, ‘सायबराबाद पुलिस आरोपियों को क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट करने के लिए लाई थी ताकि घटना से जुड़ी कड़ियों को जोड़ा जा सके। इसी बीच आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीने और उनपर फायरिंग की। आत्मरक्षा में पुलिस ने उन्हें गोली मारी जिसमें आरोपियों की मौत हो गई।’

सुबह तीन से छह बजे के बीच मारे गए आरोपी

साइबराबाद पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनार ने कहा, ‘आरोपी मोहम्मद आरिफ, नवीन, शिवा और चेन्नाकेशावुलू शादनगर के चटनपल्ली में पुलिस मुठभेड़ में आज सुबह मारे गए। सभी की मौत सुबह तीन बजे से छह बजे के बीच हुई। मैं घटनास्थल पर पहुंच गया हूं और जल्द ही आगे की जानकारी दी जाएगी।’

इन सभी आरोपियों को पुलिस रिमांड में रखा गया था। पुलिस चारों आरोपियों को उसी फ्लाईओवर के नीचे ले गई थी जहां उन्होंने पीड़िता को आग के हवाले किया था। यहां पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट किया जा रहा था। इसी दौरान धुंध का फायदा उठाते हुए उन्होंने भागने की कोशिश की। इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने गोलियां चलाईं जिसमें उनकी मौत हो गई। आरोपियों के पुलिस मुठभेड़ में ढेर होने की पुष्टि पुलिस आयुक्त ने की है।

अब बेटी की आत्मा को मिलेगी शांति

पशु चिकित्सक के पिता ने पुलिस मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों पर कहा, ‘मेरी बेटी की मौत को दस दिन हो चुके हैं। मैं इसके लिए पुलिस और सरकार के प्रति आभार व्यक्त करता हूं। अब मेरी बेटी की आत्मा को शांति मिलेगी।’

कानून मंत्री बोले- भगवान ने इंसाफ किया

वहीं, तेलंगाना के कानून मंत्री इंद्रकरण रेड्डी ने कहा कि भगवान ने इस मामले में इंसाफ किया है, जो हुआ ठीक हुआ। उन्होंने कहा कि चारों आरोपियों को घटनास्थल पर क्राइम सीन रीकंस्ट्रक्ट के लिए ले जाया गया था, लेकिन इन्होंने पुलिस के हथियार छीनकर भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस कार्रवाई में सभी मारे गए।

निर्भया की मां ने किया समर्थन

निर्भया की मां ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि हैदराबाद पुलिस ने एनकाउंटर कर नजीर पेश की है। कम से कम अब हैदराबाद केस के पीड़ित परिवार को अब रोज-रोज आरोपियों का चेहरा तो नहीं देखना पड़ेगा। उन्होंने सरकार से ये भी अपील की है कि पुलिस के खिलाफ कोई कार्रवाई न करें उन्होंने बहुत अच्छा काम किया है। निर्भया के दोषियों को अब तक फांसी न मिलने की बात पर उन्होंने कहा कि अब यह सरकार पर सवाल उठता है कि आखिर कब निर्भया के दोषियों को फांसी मिलेगी।

इस तरह आरोपियों ने रची साजिश

ये मामला 27-28 नवंबर की रात का है। चारों आरोपी मोहम्मद आरिफ, शिवा, नवीन, केशवुलू जब थोंडुपली ओआरआर टोल प्लाजा पर शराब पी रहे थे तभी महिला डॉक्टर को वहां स्कूटर खड़ा करते देखा। तभी इन्होंने खौफनाक साजिश रच डाली।

इन लोगों ने जानबूझकर महिला डॉक्टर की स्कूटी पंक्चर कर दी थी। इसके बाद मदद करने के बहाने उसे एक सुनसान जगह लेकर गए जहां उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और हत्या कर दी। बाद में पेट्रोल डालकर शव को आग के हवाले कर दिया। इसके बाद इन्होंने पीड़िता का स्कूटर कोथुर में खड़ा किया और सुबह पांच बजे ट्रक को आरामगढ़ ले गए। पुलिस को पीड़िता की अधजली लाश फ्लाईओवर के नीचे मिली थी।

Bureau
Author: Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Related Posts

Leave a Comment

Your email address will not be published.