Blog

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
Bureau | August 20, 2017 | 0 Comments

SP president Akhilesh Yadav detained by Unnao Police on Agra Lucknow Expressway

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

अखिलेश यादव की गिरफ्तारी से भड़के सपाई

तेज बारिश में भी नहीं डिगे, भीगते हुए किया प्रदर्शन

लोकतंत्र बचाओ मार्च निकालकर कलक्ट्रेट में दी गिरफ्तारी

राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा

औरैया जाते समय पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की गिरफ्तारी और कार्यकर्ताओं पर दर्ज किए गए फर्जी मुकदमों के विरोध में सपाइयों ने जमकर प्रदर्शन किया। भारी बारिश में बडे़ चौराहे पर मानव शृंखला बनाकर योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोकतंत्र बचाओ मार्च निकालकर सपा कार्यकर्ताओं का जुलूस कलक्ट्रेट पहुंचा और कार्यकर्ताओं ने डीएम कार्यालय का घेराव किया। सदर एसडीएम के समक्ष गिरफ्तारी दी। राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन भी एसडीएम सदर को सौंपा। ज्ञापन में योगी सरकार को बर्खास्त करने की मांग की है।

गुरुवार को औरैया जाते समय पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को गिरफ्तार करने के विरोध में सपा कार्यकर्ता भड़क गए। कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष अनुराग पटेल के नेतृत्व में लोहिया भवन कार्यालय के सामने मार्ग जाम कर दिया और जमकर प्रदर्शन किया। इसके बाद लोकतंत्र बचाओ मार्च निकालकर बड़े चौराहा पहुंचे, जहां मानव श्रंखला बनाकर योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जुलूस के रूप में कार्यकर्ता कलक्ट्रेट पहुंचकर डीएम कार्यालय का घेराव कर लिया। मौके पर पहुंचे एसडीएम सदर के समक्ष गिरफ्तारी दी। बाद में प्रशासन ने सभी कार्यकर्ताओं को रिहा कर दिया। इस दौरान डीएम कार्यालय पर एक सभा हुई। सभा को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष अनुराग पटेल ने कहा कि तानाशाही योगी की सरकार में लोकतंत्र की हत्या जारी है। विपक्ष की आवाज का गला घोंटने पर उतारू भाजपा सरकार लोकतांत्रिक संस्थाओं पर कब्जा करने की नीति पर चल रही है। पूरे प्रदेश में जिला पंचायतों, ब्लॉक प्रमुखों के पदों पर अलोकतांत्रिक तरीके से आरएसएस के रिमोट से चलने वाले लोगों को बैठाने की कोशिशें जारी हैं। प्रदेश में योगी सरकार ने अघोषित आपात काल लागू कर प्रदेश में उठ रहे लोकतांत्रिक आंदोलनों का पुलिस के दम पर दमन करना चाहती है, जिसे सपा बर्दाश्त नहीं करेगी। एमएलसी शशांक यादव ने कहा कि संघ भाजपा-हिटलर पंथी सांप्रदायिक नफरत की राजनीति को बढ़ावा दे रहे हैं।

एक्सप्रेसवे पर गाय घूम रही हैं, जन्माष्टमी पर सियासत क्यों? – अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर कड़े हमले किए हैं। लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अखिलेश ने योगी सराकर के उस बयान पर पलटवार किया है जिसमें उन्होंने एसपी सरकार पर जन्माष्टमी के आयोजनों पर रोक लागने की बता कही थी। अखिलेश ने कहा कि थानों में जन्मअष्टमी पहले भी मनाई जाती थी, कभी किसी ने एतराज जाहिर नही किया। उन्होंने कहा कि योगी जी सड़क की फिक्र कर रहे हैं और आज एक्सप्रेस वे पर गाय छोड दी गयी है।

केंद्र ने दिया धोखा, नहीं चल पाएंगी मेट्रो

अखिलेश ने कहा कि सीएम झांसी गए तो मेट्रो चलाने का वादा करके आए हैं। गोरखपुर में भी मेट्रो चलवाने के लिए कहा है। देखना है कि झांसी, गोरखपुर में मेट्रो कब चलेगी। अब तो मेट्रो को लेकर केंद्र ने भी धोखा दे दिया है। लगता नहीं कि इन शहरों में मेट्रो चलाने के लिए कोई आगे आएगा। केंद्र की नई पॉलिसी के बाद मेट्रो चलाने के लिए बहुत सोचना होगा। पीपीपी मॉडल पर कितने लोग आएंगे?

कहा, भाजपा सरकार आने के बाद विकास रुक गया है। इन्होंने प्रदेश को इतना पीछे कर दिया है कि कल्पना नहीं की जा सकती। सरकार कह रही है कि झांसी से दिल्ली तक एक्सप्रेस-वे बनाएंगे। पहले जान तो लीजिए कि एक्सप्रेस-वे होता क्या है। इसके लिए भी नीति आयोग को प्रस्ताव भेजा है, जिसने मेट्रो की रफ्तार रोक दी। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे 20 महीने में पूरा करके दिखाइए।

अखिलेश का पलटवार, बोले- सीएम योगी बताएं कि 100 साल में थानों में कब नहीं मनी जन्माष्टमी

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि योगी आदित्यनाथ नए भारत के डिजिटल सीएम हैं। वह स्मार्ट सिटी, एक्सप्रेस-वे और मेट्रो नहीं, जन्माष्टमी, ईद और नमाज पर चर्चा करते हैं। सीएम बताएं कि पिछले 100 सालों में थानों व पुलिस लाइन में कब जन्माष्टमी नहीं मनाई गई। अखिलेश ने गोरखपुर में बच्चों की मौत की जांच सीबीआई या सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जज से कराने की मांग की।

अखिलेश शुक्रवार को सपा मुख्यालय में मीडिया से मुखातिब थे। उन्होंने कहा, भाजपा ने यूपी में डिजिटल सीएम को बैठाया है। वह प्रदेश को डिजिटल रास्ते पर ले जा रहे हैं। सब हवा में है। जन्माष्टमी का त्यौहार होता ही पुलिस वालों का है। हमारे घर जन्माष्टमी मनी, बच्चों ने झांकी सजाई, पत्नी ने व्रत रखा। वे (सीएम) बताएंगे, उन्होंने क्या किया?

सड़क पर नमाज संबंधी सीएम के बयान की तरफ इशारा करते हुए कहा कि यहां तो गरीब सड़क पर पता नहीं क्या-क्या करते हैं। दावत करते हैं, शादी, जन्मदिन पर टेंट लगते हैं। अब सड़कों पर गाय घूम रही है, एक्सप्रेस-वे पर गायें छोड़ दी हैं। भविष्य में सपा की सरकार बनने पर हर थाने को पांच-पांच लाख रुपये दिए जाएंगे, ताकि पुलिसकर्मी जन्माष्टमी ही नहीं, क्रिसमस, दिवाली, ईद समेत जो चाहें त्यौहार मनाएं। उन्होंने पुलिस भर्ती के दो चयनित अभ्यर्थियों की मौत पर दुख जताते हुए परिवारीजनों को पचास-पचास लाख रुपये देने की मांग की।

अखिलेश बोले- ‘ट्वीट का मतलब नहीं जानते डिजिटल मुख्यमंत्री, इसलिए नहीं करता फॉलो’

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी पर चुटकी लेते हुए कहा डिजिटल मुख्यमंत्री ट्वीट का मतलब नहीं जानते है, इस लिए मैं उन्हें फॉलो नहीं करता हूं। वे यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा मुख्यमंत्री जी हमे इतना बता दें कि जन्माष्टमी थानों में मनाने से हमने कब रोका। हमारी सरकार आने पर हम त्यौहार मनाने के लिए हर थाने को 5 लाख रुपए देंगे…

औरैया बवाव पर अखिलेश के तीखे सवाल…

1. अब थाने कौन चला रहा?

2.बोले एक आईपीएस अगर पूर्व सांसद-विधायक से हाथापाई करे तो क्या स्थिति होगी लोकतंत्र की आप समझ सकते हैं। हमें कहा गया कि थाने में सपा के लोग रहते हैं, सपा थाना चलती है। अब कौन चला रहा?

3.पुलिस ही गुंडई कर रही। पूर्व सांसद औरैया को रात भर एक थाने से दूसरे थाने घुमाते रहे। किसी को मिलने नहीं दिया गया। हमें भी पुलिस ने रोका।

4.यूं तो डिजिटल इंडिया बनाने की दुहाई देते हैं। नया भारत बनाने के सपने दिखाते हैं, लेकिन बाते करेंगे कि थाने में कौन से त्योहार मनाए जाएं।

5.सड़कों पर गरीब प्रोग्राम क्यों कर रहा है। गरीब लोगों की जब दावते सड़को पर ही होती हैं। टेंट सड़क पर लगते हैं। वहीं, पार्टी करते हैं। उसपर किसका बस है। हमारी सरकार आने पर हम हर थाने को 5 लाख देंगे, सारे त्योहार मनाओ।

6.डिजिटल दुनिया की बात कीजिए, ये नहीं कि सड़कों पर कौन से त्योहार मनाए जाएंगे। मुख्यमंत्री जी हमे ये बता दें कि जन्माष्टमी थानों में मनाने से हमने कब रोका। जन्माष्टमी मैंने भी मनाई, मेरी पत्नी ने भी व्रत रखा। भाजपा बताए कि उनके यहां कितनो ने रखा। योगी जी को लग रहा है कि अभी भी चुनाव चल रहा है। इसलिए वो ऐसे बयान दे रहे हैं। कम से कम अब तो इन्हें सरकार वाला कोई काम करना चाहिए।

पुलिस ने सुपारी ले रखी है…

प्रधानमंत्री जी भ्रष्टाचार मिटाने की बात कर रहे हैं। अच्छी बात है, लेकिन पुलिस का इस्तेमाल किया जा रहा है। पुलिस ने सुपारी ले रखी है कि औरेया में बीजेपी का अध्यक्ष बनाना है। संयम के साथ हमारे कार्यकर्ताओं ने विरोध किया। कानून के दायरे में रहकर हमारे कार्यकर्ताओं ने विरोध किया। उत्तर प्रदेश में बीजेपी के लोगों ने डिजिटल मुख्यमंत्री बनाया।

डिजिटल लोग हवा में ही बाते कर रहे हैं

गोरखपुर में बच्चों की जान चली गई मुआवजा भी हमने दिया। इस प्रकरण पर तो मुख्यमंत्री जी नहीं बोल रहे हैं। इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए। 325 का घमंड था। झांसी गए तो बोला मेट्रो बना देंगे और गोरखपुर गए तो बोले हम वहां मेट्रो बना देंगे। अब केंद्र सरकार ने भी धोखा दे दिया। नई पॉलिसी के तहत अब यहां मेट्रो नहीं बन सकती। पूरा विकास रुक पड़ा हुआ है।झांसी से दिल्ली की एक्सप्रेस वे बनाने की घोषणा से पहले ये जान लीजिए कि एक्सप्रेस वे कहते किसे हैं। अगर अमित शाह ने 360 का टारगेट सेट किया है। इसका मतलब हम लोगों को नेपाल भूटान जैसे देश में जाना चाहिए। फिलहाल डिजिटल लोग हवा में ही बाते कर रहे हैं

भ्रष्टाचार के चलते नहीं मिली बच्चों को ऑक्सीजन

अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर व आसपास के जिलों के बच्चों को बीआरडी मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए ऑक्सीजन नहीं मिली। इसमें बड़ा भ्रष्टाचार है, इस पर सीएम नहीं बोलेंगे। वह अपने जिले के गरीबों की मदद नहीं करेंगे, उन्हें तो केवल सड़कों पर त्यौहार दिख रहे हैं।

सरकार को सीबीआई से बहुत लगाव है। बच्चों की मौत की जांच सीबीआई या सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से क्यों नहीं करा लेते। यह छिपाया जा रहा है कि कितनी जानें गईं। जो इलाज के लिए आए थे, उन्हें भगा दिया गया। जिन बच्चों की जान गई, लाश देकर परिवारीजनों को भगा दिया गया।

औरैया पुलिस ने ली जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने की सुपारी

अखिलेश ने कहा कि विधानसभा में 325 सीट जीतने के बावजूद भाजपा में जनता के बीच जाने का साहस नहीं। भाजपा ने सपा के जिला पंचायत अध्यक्षों, ब्लॉक प्रमुखों को हटाने के लिए पुलिस की मदद का रास्ता चुना है। प्रधानमंत्री भ्रष्टाचार खत्म करने की बात करते हैं लेकिन भाजपा तो भ्रष्टाचार के साथ कानून का सहारा ले रही है। पैसे का लेनदेन हो रहा है, सदस्यों पर दबाव बनाया जा रहा है। औरैया में पुलिस की मदद से उत्पीड़न की हदें पार हो गई हैं।

पूर्व विधायक व पूर्व सांसद से आईपीएस अधिकारी हाथापाई करे, इसकी कल्पना नहीं की जा सकती। चार माह से जिला पंचायत सदस्य घरों पर नहीं जा रहे। पुलिस उनके परिवार के सदस्यों को उठाकर भाजपा नेताओं को सौंप रही है। प्रधानमंत्री बताएं कि अब थाने कौन चला रहे हैं? सदस्यों पर रेप व हत्या जैसे केस दर्ज कराए जा रहे हैं। लगता है औरैया पुलिस ने भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष बनवाने की सुपारी ले रखी है।

अखिलेश यादव की गिरफ्तारी के बाद पूरे पूर्वांचल में सपा कार्यकर्ताओं ने काटा बवाल

समाजवादी पार्टी के मुखिया तथा पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की उन्नाव में गिरफ्तारी की सूचना पर वाराणसी सहित पूरे पूर्वांचल में सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा। कहीं पुतला फूंका तो कहीं विरोध में सड़क जाम किया। योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी हुई। पुतला छीनने को लेकर कार्यकर्ताओं की पुलिस से नोंकझोंक और धक्का मुक्की भी हुई।

वाराणसी में सपा मुखिया अखिलेश यादव की गिरफ्तारी के बाद सपाजन भड़क गए। हिरासत में लिए जाने की जानकारी मिलते ही पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता सड़क पर उतर आए। जुलूस निकाल कर सपाई कलेक्ट्रेट पहुंचे। इसके बाद पुलिस से नोकझोंक और धक्कामुक्की करते हुए सुरक्षा घेरे को तोड़कर सभी कलेक्ट्रेट के पश्चिमी गेट से डीएम पोर्टिको जा पहुंचे। नारेबाजी और प्रदर्शन की सूचना पर सात थानों की फोर्स के साथ पहुंचे एसपी सिटी ने 135 सपाजनों को बस से पुलिस लाइन भिजवाया। इस दौरान लगभग दो घंटे तक कलेक्ट्रेट और आसपास अफरातफरी का माहौल रहा।

भदोही में भी सपा कार्यकर्ताओं ने उग्र प्रदर्शन किया। उन्होंने पार्टी के जिला कार्यालय से जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में जुलूस निकालकर प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए जिला मुख्यालय पहुंचे। योगी को ढोंगी बताते हुए अयोग्य सीएम बताया। गुस्साए सपा कार्यकर्ताओं ने सीएम का पुतला दहन किया। आरोप लगाया कि प्रदेश में जब से भाजपा की सरकार बनी है, आम जनता का उत्पीड़न बढ़ गया है।

बलियाः अखिलेश यादव की गिरफ्तारी के विरोध में गुरुवार को पार्टी कार्यालय पर कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। जिलाध्यक्ष ने कहा कि योगी सरकार के इस कृत्य की जितनी भी निंदा की जाए कम है। रसड़ा कस्बा के प्यारेलाल चौराहे पर सपा के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार की शाम सीएम योगी का पुतला फूंक कर विरोध जताया। कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

चंदौलीः अखिलेश यादव की गिरफ्तारी से नाराज सपा कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। कार्यालय परिसर में घुसने के प्रयास में कार्यकर्ताओं ने मुख्य गेट को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने के साथ ही पूर्व सीएम को तत्काल छोड़ने की मांग की। अंत में राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा।

गाजीपुरः सपा कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को मुहम्मदाबाद तहसील त्रिमुहानी पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका। कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र पंचायत कार्यालय से राज्यसभा सांसद नीरज शेखर के नेतृत्व में जुलूस निकाला। जुलूस में शामिल सपा कार्यकर्ता प्रदेश और केंद्र सरकार के विरोध में नारे लगा रहे थे। जुलूस मुख्य मार्ग होते हुए तहसील त्रिमुहानी पहुंचा और योगी आदित्यनाथ का पुतला फूंका।

जौनपुरः अखिलेश यादव की गिरफ्तारी से नाराज पार्टी कार्यकर्ताओं ने जिले में उग्र प्रदर्शन किया। शहर के जेसीज चौराहे पर जुटे बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता जुलूस के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे। सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। समाजवादी छात्रसभा के जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने टीडी कालेज के मुख्य द्वार पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका। इस दौरान पुतला छीनने को लेकर कार्यकर्ताओं की पुलिस से नोंकझोंक और धक्का मुक्की भी हुई।

मऊः अखिलेश यादव की गिरफ्तारी के विरोध में सपा कार्यकर्ता गुरुवार को सड़क पर उतर गए। जगह-जगह प्रदर्शन कर सरकार के विरोध में नारेबाजी कर मुख्यमंत्री योगी का पुतला फूंका। सपा जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में गुरुवार को कार्यकर्ताओं ने खुरहट बाजार में सीएम का पुतला फूंका। सपा युवजन सभा के राष्ट्रीय सचिव के नेतृत्व में सड़क पर उतरे कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही सीएम का पुतला दहन किया।

मिर्जापुर के चुनार में सपा कार्यकर्ताओं ने गोला बाजार रस्तोगी तिराहे पर गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को औरैया जाते वक्त कानपुर में उनके काफिले को रोके जाने व गिरफ्तार किये जाने के विरोध में मुख्यमंत्री का पुतला फूंका।

सोनभद्र में नाराज सपाजनों ने गुरुवार को कोतवाली के पुसौली गांव के समीप राजमार्ग चक्कजाम कर दिया। नेताओं को रिहाई की मांग करते हुए योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। आधे घंटे बाद पुलिस ने कार्यकर्ताओं को समझा-बुझाकर जाम समाप्त कराया। ओबरा में छात्रसंघ पदाधिकारियों ने गुरुवार को डिग्री कॉलेज चौराहे पर राज्य सरकार पर तानाशाही रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए पुतला फूंका।

अखिलेश समर्थकों ने ‘सड़क को बनाया बेड’

कानपुर नगर और कानपुर देहात के सपा नेताओं ने समर्थकों के साथ लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर लेटकर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान सड़क को बेड बनाए सपा कार्यकर्ता सेल्फी खींचते नजर आए।

भाजपा सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए सपा के बड़े नेताओं की गिरफ्तारी को लेकर सपा विधायक इरफान सोलंकी, अमिताभ बाजपेई ने एक्सप्रेस वे पर पुलिस अधिकारियों को जमकर छकाया।

कानपुर देहात में शिवराजपुर के पास विधायक अमिताभ बाजपेई और सपा के कई पदाधिकारियों ने जीटी रोड जाम कर दिया। इस दौरान पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया।

राजधानी लखनऊ में सपा कार्यकर्ताओं का हंगामा, सांसद डिम्पल यादव ने भी किया ट्वीट

सपा कार्यकर्ताओं का लखनऊ में हंगामा, एनेक्सी में ताला लगाने की कोशिश

औरैया जा रहे अखिलेश यादव को हिरासत में लेने के बाद शहर में सपा छात्र सभा के कार्यकताओं ने जमकर हंगामा ‌किया। प्रदर्शन कर रहे कार्यकताओं ने एनेक्सी में गेट बंद कर ताला लगाने का प्रयास किया। पुलिस सभी को गिरफ्तार करके हजरतगंज थाने ले गई है।
सपा कार्यालय पहुंचे अखिलेश यादव का कार्यकताओं ने जोरदार स्वागत किया। अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार विपक्ष को निर्ममता पूर्वक खत्म करना चाह रही है।

Bureau
Author: Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Related Posts

Leave a Comment

Your email address will not be published.