Blog

माता अमृतानंदमयी देवी
Bureau | August 12, 2022 | 0 Comments

Amrita Hospital Faridabad with modern medical facilities to encourage embracing good health

मॉडर्न मेडिकल फेसिलिटी से लैस है फरीदाबाद का अमृता हॉस्पिटल, गरीबों और वंचितों के इलाज के लिए सभी सुविधाएं

आज के समय में अच्छा स्वास्थ्य होना न सिर्फ सुखी जीवन की अहम कुंजी है, बल्कि सफलता और भाग्य का आधार भी है, और अच्छी लाइफस्टाइल के लिए ज़रूरी भी है। मानव जीवन में सभी अच्छी चीजों की ही तरह, अच्छा स्वास्थ्य भी अक्सर प्रभावित होता है। जब हमारे जीवन में बीमारी, दुख और पीड़ा काफी ज्यादा हावी हो जाते हैं, तो मेडिकल साइंस ही हमें बचाने के लिए आता है। मेडिकल साइंस में तरक्की करने और बीमारियों के इलाज को संभव बनाने के बारे में कई जानकारी के लिए हमें नॉलेज के गहरे ओशियन से ज्ञान को खोद-कर निकालने में तनिक भी देरी नहीं हुई। चाहे वह एचआईवी-एड्स हो, कैंसर हो, या जेनेटिक डिस-ऑर्डर ही क्यों न हो आज मेडिकल साइंस में इसका इलाज है। साथ ही ऑर्गन ट्रांसप्लांटेशन करना या फिर अजन्मे बच्चे का ऑपरेशन करना हो अब दोनों संभव है।

मगर फिर भी लोगों के मन में मेडिकल साइंस से जुड़े कई सारे रेलेवेंट सवाल आज भी सामने आते हैं, जैसे- हम क्या करें? इलाज क्या है? हम कहाँ जाएँगे? हम किससे सलाह लेंगे? ऐसे में हम आपको अमृता हॉस्पिटल्स में स्वास्थ्य के देखभाल लिए कई हैरान कर देने वाली मुश्किल स्वास्थ्य समस्याओं का सही से इलाज करने का वन-स्टॉप समाधान प्रदान करते हैं। मरीजों को सस्ती और किफायती स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करना ही अमृता हॉस्पिटल के फिलोसोफी की आत्मा मानी जाती है। अमृता हॉस्पिटल आपको एक ही प्लेटफार्म पर सबसे शानदार दिमाग, मॉडर्न टेक्नोलॉजी के उपकरण और अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे का एक साथ इस्तेमाल करके वर्ल्ड लेवल हेल्थ केयर सोल्यूशन देने का प्रयास करता है।

गरीबों और वंचितों के बेहतर इलाज के लिए हुई थी इस हॉस्पिटल की स्थापना

अमृता हॉस्पिटल की संस्थापक अम्मा यानी माता अमृतानंदमयी देवी की गरीबों और वंचितों को बेहतर मेडिकल केयर प्रदान करने के विज़न के फलस्वरूप वर्ष 1998 में अमृता अस्पताल का जन्म हुआ, जिसे अमृता इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ के रूप में भी जाना जाता है। 1300 बेड वाला ये टेरिटेरी रेफरल और टीचिंग हॉस्पिटल हर साल 10 लाख से अधिक बाहरी मरीजों को, 70,000 से अधिक इनपेशेंट को और सालाना लगभग 23,000 से अधिक सर्जरी सच्ची भावना से करता है. साथ ही अमृता हॉस्पिटल ने अपनी स्थापना के बाद से ही मुफ्त मेडिकल केयर प्रदान करने के लिए ₹700 करोड़ से अधिक रुपए प्रदान किए हैं। ग्रामीण इलाकों के डायबिटीज़ (मधुमेह) रोगियों के लिए सस्ते इंसुलिन पंपों के इनोवेशन गरीबों और ज़रूरतमंदों की मदद के लिए किए पहल अमृता हॉस्पिटल के कई प्रयासों में से एक और काफी अहम हिस्सा है।

अमृता यूनिवर्सिटी का अहम हिस्सा है यह हॉस्पिटल

अमृता हॉस्पिटल सही मायने में अमृता यूनिवर्सिटी के विशाल नेटवर्क का एक अहम हिस्सा है, जोकि अमृता विश्व विद्यापीठम के नाम से भी जाना जाता है। इस हॉस्पिटल का कैंपस कोच्चि में स्कूल ऑफ मेडिसिन, स्कूल ऑफ डेंटिस्ट्री, स्कूल ऑफ नर्सिंग, स्कूल ऑफ फार्मेसी, स्कूल ऑफ एलाइड हेल्थ साइंसेज़ और सेंटर फॉर नैनोसाइंसेज़ के साथ मजबूती से खड़ा है। यह अमृता हॉस्पिटल की एक मल्टी डिसिप्लिनरी रिसर्च टीम है, जिसमें डॉक्टर, सर्जन, क्लिनिकल इन्वेस्टिगेटर्स और टीचर शामिल हैं, जोकि मेडिकल साइंस और मानव जाति के लिए अपना बेहतरीन योगदान देते हैं। यहां के रिसर्चर सबसे चुनौतीपूर्ण स्वास्थ्य स्थितियों और बीमारियों के इलाज के लिए नए टूल्स, डिवाइसेज़ और मेथडलॉजी विकसित करते हैं

यहां के लेटेस्ट वेंचर्स में से एक, अमृता हॉस्पिटल्स और अमृता यूनिवर्सिटी द्वारा किया गया एक जॉइंट केस स्टडी, जिससे पता चला है कि इनहेल्ड नाइट्रिक ऑक्साइड (iNO) थेरपी SARS-COV-2 वायरस को मार देती है और उन रोगियों को मुश्किल हालातों की तुलना और ज़ीरो मृत्यु दर के साथ तेजी से ठीक होने में मदद करती है, जिन्होंने बिना आईएनओ के मानक कोविड-19 उपचार प्राप्त किया। कोच्चि में इस हॉस्पिटल को इंडियन कॉउन्सिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा बेहतरीन एडवांस सेंटर क्लिनिकल ट्रायल्स (ACCT) के रूप में सेलेक्ट किया गया है, जोकि बायोमेडिकल रिसर्च के निर्माण, समन्वय और प्रचार के लिए देश का सर्वोच्च केंद्र है। कम्पलीट इंटिग्रेशन ऑफ हॉस्पिटल्स, क्लिनिकों, विभिन्न केंद्रों पर एक्सेलेंस, और साथ ही इन-पेशेंट, आउट-पेशेंट सेटिंग्स में साझा इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड का उपयोग करने की सुविधा क्लिनिकल एक्सेलेंस प्राप्त करने में मदद करती है।

मॉडर्न टेक्नोलॉजी सिस्टम से लैस है अमृता हॉस्पिटल

यह हॉस्पिटल हाई-टेक मेडिकल केयर में मॉडर्न सुविधाओं को देने के लिए अपने उपकरणों और सेवाओं को अपडेट करता है। साथ ही हॉस्पिटल आपात स्थिति के साथ-साथ सभी सर्जिकल आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए 31 आधुनिक ऑपरेटिंग थिएटरों से सुसज्जित है। हॉस्पिटल कैंपस में कैंसर सेंटर में साइबरनाइफ और टोमो थेरपी की शुरूआत, अमृता एडवांस्ड सेंटर फॉर रोबोटिक सर्जरी में कम आक्रामक दा विंची सर्जिकल सिस्टम, रोसा (रोबोटिक सर्जिकल असिस्टेंट) की शुरूआत ने सभी उपचारों को बदल दिया है। इसके सेंटर ऑफ एक्सेलेंस इन ऑर्गन ट्रांसप्लांटेशन ने 11 हैंड ट्रांसप्लांट सर्जरी की। अमृता एडवांस्ड सेंटर फॉर रोबोटिक सर्जरी ने पिछले छह वर्षों के दौरान 3000 से अधिक सर्जरी की है। इनमें स्त्री रोग ऑन्कोलॉजी विभाग ने 700 से अधिक रोबोटिक सर्जिकल प्रक्रियाओं को अंजाम दिया है। अस्पताल ने माको रोबोटिक-आर्म असिस्टेड टेक्नोलॉजी का उपयोग करके 500 से अधिक रिप्लेसमेंट सर्जरी की है।

इस हॉस्पिटल के लीवर ट्रांसप्लांटेशन टीम को 1032 लीवर ट्रांसप्लांटेशन का क्रेडिट दिया गया है। इंटरवेंशनल पल्मोनोलॉजी ने 1100 से अधिक मुश्किल ब्रोंकोस्कोपी प्रक्रियाएं की हैं। बाल चिकित्सा और जन्मजात हार्ट सर्जरी की मेडिकल टीम ने 20,000 से अधिक जन्मजात हार्ट सर्जरी की है। फीटल कार्डियोलॉजी डिविज़न ने 7500 से अधिक फीटल इको की स्टडी की है और साथ ही 500 से अधिक महिलाओं में गंभीर हार्ट डिफेक्ट वाले फीटल प्रॉब्लम का अमृता हॉस्पिटल में सफल डिलीवरी हुई है।

हर मरीज़ अमृता हॉस्पिटल लिए मायने रखता है। साथ ही ये हॉस्पिटल सभी उम्र के रोगियों के लिए व्यक्तिगत देखभाल प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। हॉस्पिटल उनकी बीमारी के अलावा उनकी कंसर्न और चिंताओं को समझने की कोशिश करता है। यह हॉस्पिटल ऐसा मानता है कि रोगी के लिए उपचार और दवा के सर्वोत्तम कोर्स का निर्धारण करने में उनके भावनात्मक, व्यक्तिगत और आर्थिक पहलुओं के बारे में भी उचित जानकारी प्राप्त करना बहुत ही ज़रूरी है।

अमृता हॉस्पिटल की पूरी टीम के डेडिकेशन, कमिटमेंट और इसके सभी शुभचिंतकों के सम्मान ने इसे कई सम्मान और अवार्ड्स जीतने में मदद की है। ऐसा कहा जाता है कि उपचार समय की बात है, लेकिन कभी-कभी यह अवसर की बात भी होती है। यह हॉस्पिटल हमेशा ही आपको और आपके प्रियजनों को ठीक करने का यह अवसर प्रदान करता है। इस हॉस्पिटल की जनक अम्मा का कहना है कि, “पीड़ितों को सांत्वना देने के लिए आपको धनवान या उच्च पद पर होने की आवश्यकता नहीं है। बस एक प्यार भरा शब्द, एक करुणामयी नज़र, एक मदद करने वाला हाथ ही किसी भी ज़रूरतमंद की मदद करने के लिए काफी है,”

पिछले 25 वर्षों से लोगों की सेवा के लिए जाना जाता है फरीदाबाद का अमृता हॉस्पिटल

अमृता हॉस्पिटल, फरीदाबाद ने 25 वर्षों में दया, करुणा और देखभाल की इस विरासत की निरंतरता बनाये रखा है। लोगों को भरोसा बहुत ही मुश्किल से जीता जाता है। यह एक ऐसा स्थान है जहां साइंस, टेक्नोलॉजी और रिसर्च लोगों को अच्छा स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए एक दूसरे में विलीन हो जाते हैं। यह हॉस्पिटल डॉक्टर, सर्जनों, देखभाल करने वालों, नवोन्मेषकों, अन्वेषकों और शोधकर्ताओं का एक समुदाय है जोकि आपके शरीर को ठीक करने और आपके दिमाग को ठीक करने के लिए आधुनिक विज्ञान द्वारा उपलब्ध कराए गए उपकरणों और ज्ञान का उपयोग करते हैं।

यह तय है कि फरीदाबाद में बनने वाला 130 एकड़ का विशाल स्वास्थ्य सिटी कैंपस देश में स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र को फिर से परिभाषित करेगा। इस हॉस्पिटल को एक ऐसी जगह के रूप में डिज़ाइन किया गया है, जहां सबसे शानदार डॉक्टर्स और सर्जनों की सेवाएं दुर्लभ से दुर्लभ मेडिकल कंडिशन्स से लेकर सबसे आम बीमारियों के इलाज के लिए उपलब्ध कराई जाती हैं। हॉसिपटल सबसे संभव इलाज प्रदान करने के लिए अपनी डॉक्टर टीम के हाथों को मज़बूत करने के लिए मॉडर्न तकनीक और उपकरणों को लाता है। ये अत्यधिक कुशल डॉक्टर, अच्छी तरह से प्रशिक्षित नर्स और सहायक एक साथ स्वास्थ्य सेवाओं को बदल देंगे।

अस्पताल यह सुनिश्चित करेगा कि उन्नत निदान, उपचार और इलाज उनकी पहुंच के भीतर हो। फरीदाबाद में अमृता हॉस्पिटल्स के आने से स्वास्थ्य सेवा अब उन लोगों का विशेषाधिकार नहीं रहेगी जोकि महानगर में स्थित सुपर-स्पेशियलिटी और मल्टी-स्पेशियलिटी अस्पतालों का खर्च उठा सकते हैं, या दुनिया के सर्वश्रेष्ठ अस्पतालों में उपलब्ध विशेषज्ञों की सेवाएं प्राप्त करने के लिए विदेश यात्रा कर सकते हैं।

फरीदाबाद अमृता हॉस्पिटल में हैं ये सेवाएं

अमृता अस्पताल, फरीदाबाद में 81 विशेष विभागों की सेवाएं उपलब्ध हैं। 2400 बेड्स वाले इस हॉस्पिटल में एक करोड़ वर्ग फुट का निर्मित क्षेत्र है। इसमें 81 विशेषता, 64 पूरी तरह से नेटवर्क वाले मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर और 534 क्रिटिकल केयर बेड के साथ स्मार्ट आईसीयू हैं, जिनकी चौबीसों घंटे डिजिटल निगरानी की जाती है। इस अस्पताल में भारत में सबसे बड़ा बाल चिकित्सा सुपर-स्पेशियलिटी केंद्र, अत्याधुनिक पूरी तरह से स्वचालित स्मार्ट प्रयोगशालाएं, देश की सबसे बड़ी हाई प्रेसिशन रेडिएशन ऑन्कोलॉजी, भारत में सबसे बड़ा, नवीनतम और सबसे बेहतरीन भौतिक चिकित्सा और रीहैबिलिएशन केंद्र है। साथ ही इस हॉस्पिटल में ही भारत के रोबोटिक्स, हैप्टिक, कैडेवरिक, हाई फिडेलिटी, सर्जिकल और मेडिकल सिमुलेशन के लिए केंद्र, संक्रामक रोगों से निपटने के लिए सबसे बड़ी सुविधाएं और डायग्नोस्टिक एंड थेरप्यूटिक्स में देश का सबसे बड़ा सेंटर ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन आदि है। यह हॉस्पिटल देश में सबसे बेहतरीन मेडिकल इमेजिंग सेवाओं में से एक प्रदान करता है। यह एक हॉस्पिटल है, जोकि भारत में एक माँ और बच्चे की देखभाल के लिए सबसे बड़ा सिंगल फ्लोर स्पेस प्रदान करता है। इसमें सबसे बेहतरीन तरीके से नवजात बच्चों की देखभाल के साथ भ्रूण, प्रजनन और उच्च जोखिम वाली प्रसूति भी शामिल है।

यह हॉस्पिटल क्लिनिकल सेवा के लिए एक अत्याधुनिक कार्डियक और इंटरवेंशनल कैथ लैब प्रदान करता है। इसमें रिसर्च के लिए एक डेडिकेटेड ब्लॉक है और पर्यावरणीय स्थिरता का समर्थन करने के लिए ज़ीरो कार्बन फुटप्रिंट और ज़ीरो वेस्ट डिसचार्ज स्वास्थ्य सुविधा है।

फ़रीदाबाद में अमृता अस्पताल मां और बच्चे की स्वास्थ्य देखभाल पर विशेष ध्यान देता है। यह उन कई क्षेत्रों में से एक है जहां निजी अस्पताल आम तौर पर निवेश नहीं करना चाहते हैं, क्योंकि वे इसे इकनोमिक दृष्टिकोण से सूटेबल नहीं समझते हैं। अमृता के पास मातृ, भ्रूण चिकित्सा और बाल चिकित्सा कार्डियोलॉजी, हार्ट सर्जरी, और ट्रांसप्लांटेशन, रुमेटोलॉजी, एंडोक्रिनोलॉजी, पल्मोनोलॉजी, न्यूरोसाइंसेज़, बाल चिकित्सा आनुवंशिकी, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी, बाल चिकित्सा हड्डी रोग, और बाल चिकित्सा और भ्रूण सर्जरी सहित सभी बाल चिकित्सा के साथ एक अत्यधिक स्पेशल मल्टी-डायमेंशनल बच्चों का हॉस्पिटल भी है।

अमृता हॉस्पिटल ने एक ही छत के नीचे कई अन्य सुविधाओं के अलावा, एक बेहतरीन हार्ट इंस्टिट्यूशन, न्यूरोसाइंस और मिर्गी के लिए एक उम्दा केंद्र, डायबिटीज़ और मेटाबॉलिज़्म के लिए एक संस्थान, लिवर और पित्त रोगों के लिए एक केंद्र, मॉडर्न इन्वेसिव और रोबोट के लिए एक संस्थान है. साथ ही यह सर्जरी, एक बर्न यूनिट, हड्डी और जोड़ों के रोगों के लिए एक केंद्र, फेफड़ों के रोगों और ट्रांसप्लांटेशन के लिए एक बेहतरीन केंद्र और रीढ़ की हड्डी के विकारों के लिए एक केंद्र।

फ़रीदाबाद में अमृता हॉस्पिटल को सीखने और रिसर्च के केंद्र के रूप में जाना जाता है. यह एक टीचिंग हॉस्पिटल और अमृता विश्वविद्यालय के 8वें परिसर का घर भी है। इन वेंचर्स का इरादा नए स्वास्थ्य देखभाल, समाधान और बेहतर उपचार विधियों को लाने और देश के हेल्थ केयर सेक्टर में मूल्यों को जोड़ने का है। 5.2 लाख वर्ग फुट के क्षेत्र में बना ये मेडिकल कॉलेज हेल्थ सिटी परिसर का हिस्सा है।

आखिरकार, मल्टीकैंपस, मल्टीडिसिप्लिनरी संस्थान 20,000 से अधिक छात्रों के लिविंग कम्युनिटी को ज्ञान प्रदान करेगा, जिसमें 800+ पीएचडी डिग्रीओं के साथ फैकल्टी को मिलाकर 250 से अधिक प्रोग्राम है। दया पर आधारित रिसर्च पर ध्यान केंद्रित करते हुए अभुमृता गरीबी, खमरी, बीमारी, आवास की कमी, लैक ऑफ लिटरेसी, पर्यावरण प्रदूषण और पूर्वाग्रह जैसी प्रमुख वैश्विक समस्याओं को दूर करने में मदद कर रही है। अमृता हॉस्पिटल की संस्थापिका अम्मा कहती हैं, “सतत विकास के हमारे प्रयास में हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि पिरामिड के आधार की ही तरह लोगों को मज़बूत करने से ही समाज का पूरा भवन स्वस्थ और मज़बूत बनता है।” अमृता हॉस्पिटल के कार्यों ने कई ठोस प्रगति और इनोवेशन का अनुवाद किया है, जोकि अधिक से अधिक सामाजिक लाभ के लिए होते हैं, और अपने इन्हीं पहलों को टॉप के इंटरनेशनल विश्वविद्यालयों के साथ 200+ सहयोग द्वारा पूरा करती है।

पर्यावरण के लिए भी अमृता हॉस्पिटल का अहम योगदान

साथ ही देश में सबसे बड़ी ग्रीन बिल्डिंग हेल्थकेयर प्रोजेक्ट होने के नाते, फ़रीदाबाद में हेल्थ सिटी ने ज़मीन, पानी और हवा की सुरक्षा के लिए योजनाएं बनाई हैं। इस हॉस्पिटल के मैनेजमेंट के द्वारा यह सुनिश्चित किया जाता है कि निर्माण में उपयोग की जाने वाली सामग्री पर्यावरण के अनुकूल हो, और साथ ही विशाल परिसर के प्राकृतिक वातावरण को संरक्षित किया जाएगा। इसके आलावा यह सुनिश्चित किया जाता है कि 70 प्रतिशत भूमि देशी पेड़-पौधों और जल निकायों वाले हरे क्षेत्रों के रूप में रहेगी।

प्रदूषण को कम करने के लिए प्रभावी साइट और वेस्ट मैनेजमेंट प्रक्रियाएं और वर्षा जल संचयन प्रणाली विशेष रूप से हेल्थ सिटी कैंपस में डिज़ाइन की गई है। इस हॉस्पिटल को यूएनडीपी और भारत के एनर्जी एफसीएनसी ब्यूरो (ऊर्जा दक्षता ब्यूरो) द्वारा भारत में 100 एनर्जी एफिशिएन्ट मॉडल बिल्डिंग्स के हिस्से के रूप में चुना गया है। साथ ही अमृता हॉस्पिटल ने गृह कॉउन्सिल से इंटिग्रेटेड वाटर मैनेजमेंट के लिए एक एक्सेम्प्लरी पर्फॉरमेंस अवार्ड भी जीता है। साथ ही ये हॉस्पिटल हरित पहल के तहत आर्गेनिक फार्मिंग को भी अपनाएगा।

Bureau
Author: Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Related Posts

Leave a Comment

Your email address will not be published.