Blog

भूंकप
Bureau | September 20, 2017 | 0 Comments

7.1 magnitude earthquake near Mexico City

भूंकप
भूंकप

भूंकप के झटकों से फिर दहला मेक्सिको, 140 से ज्यादा लोगों की मौत

मेक्सिको की राजधानी मेक्सिको सिटी एक बार फिर भूकंप के झटकों से दहल गया है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक भूकंप में मरने वालों की संख्या बढ़कर 140 हो गई है। बताया जा रहा है कि पड़ोसी मदद के दौरान लोगों को बचाने के लिए इमारतों के मलबे में कूद गए। जिससे मरने वालों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है।

भूकंप से कई इमारतें ढह गई हैं। मौके पर बचाव और राहत कार्य जारी है। अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक रिएक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 7.1 थी।

भूकंप का केंद्र पुएब्ला प्रांत में था जो मेक्सिको सिटी से दक्षिण पूर्व में स्थित है। मेक्सिको सिटी के मेयर के मुताबिक राजधानी में कई इमारतों को नुकसान पहुंचा है। उन्होंने यह भी कहा कि भूकंप में ढही इमारतों के मलबों में कई लोग दबे हो सकते हैं। मैक्सिको सिटी और आसपास के राज्यों के घनी आबादी वाले हिस्सों में कई इमारतें ढह गई हैं। मैक्सिको के मोरेलोस राज्य के गवर्नर ने इस भीषण भूकंप में कम से कम 42 लोगों की मौत की पुष्टि की है।

प्यूब्ला राज्य के आंतरिक विभाग के प्रवक्ता फ्रांसिस्को सांचेज के मुताबिक, प्यूब्ला राज्य में कम से कम 11 लोगों के मरने की खबर है।

बता दें कि इससे पहले 7 सितंबर, गुरुवार की रात मेक्सिको में भीषण भूकंप आया था। 8.1 तीव्रता वाले भूकंप ने भारी तबाही मचाई थी। इस हादसे में करीब 90 लोगों की मौत हो गई थी। ओआक्सा स्टेट के मुताबिक केवल 71 लोगों की मौत उनके राज्य में ही हुई थी। वहां के स्टेट सिविल प्रोटेक्शन अथॉरिटी के प्रवक्ता जीसस गोंजालेज ने कहा कि भूकंप की वजह से उनके राज्य में 71 मौतें हुई। वहीं लोकल अथॉरिटी के मुताबिक पड़ोसी राज्य चिपास में 15 लोगों की मौत हुई थी। तबासो में 4 लोगों की मौत की पुष्टि की गई थी।

मेक्सिको में इस भूकंप की वजह से काफी लोगों को नुकसान पहुंचा था। ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस भूकंप का सबसे ज्यादा असर मेक्सिको के साउथ स्टेट्स ओआक्सा में देखा गया था। इससे पहले इतनी तीव्रता का भूकंप मैक्सिको में 1932 में यानि 85 साल पहले आया था, जिसमें हजारों लोगों की जान गई थी।

Death toll in Mexican earthquake rises to 140, as neighbors jump in to help rescue people from the rubble

Emergency crews and ordinary people were digging with bare hards through rubble in search of survivors after a powerful earthquake stuck central Mexico on Tuesday, toppling dozens of buildings and killing at least 140 people.

As night fell across the region rescuers, people armed with cutting equipment and sniffer dogs scrambled to reach survivors trapped in ruins of offices and apartment blocks amid plumes of dust and wailing sirens. Power blackouts left much of the capital in darkness. Many people remained outdoors, fearful of aftershocks.

The magnitude 7.1 quake, the deadliest to hit the nation since 1985, struck shortly after 1pm local time, causing violent, prolonged shaking which flattened buildings and sent masonry tumbling onto streets, crushing cars and people in the capital Mexico City and surrounding areas.

Bureau
Author: Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Bureau

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Related Posts

Leave a Comment

Your email address will not be published.