मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

UP state minister Banshidhar still lives in mud hut in Bahraich

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

झोपड़ी में रहने वाले बंशीधर बौद्ध ने ली राज्यमंत्री की शपथ

धन्यवाद मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी,

आज सबसे ज़्यादा ख़ुशी हुई बंशीधर बौध को मंत्री बनते देख..!!

बंशीधर जी बहराइच के विधायक है और देश के सब से ग़रीब विधायक है और झोपड़ी में रहते हैं परन्तु जनता मे लोकप्रिय हैं

आज मुख्यमंत्री जी ने लोहिया जी के बिचारो के साथ एव समाजवाद की राह पर चलते हुये एक गौरवपूर्ण एव सराहनीय और नेक काम किया है

आज की सबसे शानदार तस्वीर।  कल तक जिस बंसीराम बौद्ध को कोई पहचानता नहीं था,  आज वो मंत्रालय में पहुंच गए।

बंसीराम के पीछे की सफलता की कहानी ये है कि विधायक बनने के बाद भी बंसीराम के पास झोपडी ही रही, खेती करना नहीं छोडा, कभी किसी बुराई में नहीं फंसें। कमजोर को ताकतवर बनाने वाले से बडा भद्र कोई नहीं है मेरे हिसाब से

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव और बंशीधर बौद्ध
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव और बंशीधर बौद्ध

मंत्री बनने के बाद भी नहीं बदले बंशीधर, आज भी उठाते हैं गोबर

राज्यमंत्री शब्द के नाम मात्र से राजनीतिक रुतबे और शान-शौकत का अंदाजा हर किसी को हो जाता है। आज के सांसदों-विधायकों ने जब राजनीति में गाड़ियों, आलीशान मकानों और बंदूकधारियों की लम्बी फौज को अपनी पहचान बना रखी हो तो इन सबके बीच झोपड़ी में रहने वाले विधायक से अब राज्यमंत्री बने बंशीधर एक उदाहरण के तौर पर देखे जा रहे हैं।

बहराइच में समाजवादी पार्टी के बलहा विधानसभा विधायक बंशीधर मौजूदा नेताओं की हाई-फाई जीवन शैली से दूर अपनी झोपड़ी की पुरानी जीवनशैली को ही आधार बना रखा है।

बताया जाता है कि बंशीधर आज भी कच्चे घर में रहते हैं और उनकी पत्नी जानवरों का गोबर उठाकर फेंकती हैं, जबकि उनकी मदद खुद बंशीधर करते हैं। घर का काम करने के लिए आज भी घर में कोई नौकर नहीं है। दरवाजे व घर की सफाई से लेकर भैसों को चारा लगाने से दूध दुहने का काम अभी विधायक जी खुद अपने हाथ से ही निपटाते हैं और इस काम में उनकी पत्नी उनका साथ देती हैं।

लगभग 70 किलोमीटर लम्बी बलहा विधानसभा को तय करने के लिए इन्होंने लोन पर कार जरूर खरीदी है लेकिन उससे अधिकतर जंगली इलाके के लोग अपने जरुरत के समय उसे अपने इस्तेमाल में भी लेते हैं। काम के दबाव को देखते हुए अपनी खेती करने के लिए बैलों से जुताई करने वाले बंशीधर अब ट्रैक्टर से जुताई जरूर करने लगे हैं।

विधायक से राज्यमंत्री बने बंशीधर अधिकतर समय अपनी झोपड़ी के आवास में लोगों की समस्याएं निपटाने का काम करते हैं। उसके पीछे इनका मानना है की ऐसा काम क्यों किया जाए कि कल लोग हंसे।

बंशीधर कहते हैं कि आज हम विधायक हैं कल रहें न रहें, लोग हसेंगे तो नहीं। विधायक से राज्यमंत्री बने बंशीधर अपने पांच बेटों व तीन बहुओं साथ इसी झोपड़ी में रहते हैं।

समाजवादी पार्टी के विधायक बंशीधर बौद्ध ने ली राज्यमंत्री की शपथ
समाजवादी पार्टी के विधायक बंशीधर बौद्ध ने ली राज्यमंत्री की शपथ

सेन्ट्रल स्टेट फार्म की चौकीदारी करने वाले बंशीधर, जिन्हें कभी डाक विभाग ने घने जंगलों के बीच जंगली जानवरों और चोर-डाकुओं से अपनी डाक बचाने के लिए नौकरी दी थी और जिसे कुछ दिन बाद निकाल भी दिया गया। वो व्यक्ति राजनीति में सत्ता के शिखर का भी रुख करेगा। लेकिन 13 सितम्बर 2014 को बलहा विधानसभा का उपचुनाव ने सब कुछ बदल कर रख दिया।

बहराइच की मौजूदा भाजपा सांसद सावित्री बाई फुले के बलहा विधानसभा से पद छोड़ने के कारण वहां उपचुनाव हो रहा था। बतौर सपा उम्मीदवार बंशीधर ने बलहा विधानसभा के उपचुनाव में अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बसपा की किरण भारती को बड़े अंतर से हराकर राजनीति में अपना पैर जमा दिया।

यूं तो बंशीधर की राजनीति की शुरुआत इससे काफी पहले हो चुकी थी और उन्होंने अपने इलाके का जिला पंचायत सदस्य के तौर पर दो बार प्रतिनिधित्व किया था, लेकिन राजनीति में दमदार इंट्री इनके विधायक बनने के बाद हुई।

कभी घर के गुजारे के लिए बिछिया चौराहे पर साइकिल का पंचर बनाने वाले बंशीधर एक वर्ष पूर्व आम से खास बन गए। राजनीति में माननीय का ओहदा मिल गया। रातोरात सब कुछ बदल गया। पद प्रतिष्ठा सम्मान एकाएक बढ़ गया, लेकिन हैरत की बात है कि सबकुछ बदलने के बाद भी बंशीधर नहीं बदले।

उत्तर प्रदेश के बहराइच के बलहा सुरक्षित सीट से समाजवादी पार्टी के विधायक बंशीधर बौद्ध के पास न तो कोई गाड़ी है और न ही अपना कोई घर। आज राज्यमंत्री की शपथ लेने वाले बंशीधर बौद्ध अभी भी खेती करते हैं और यही उनकी जीविका का साधन भी है।

बंशीधर बौद्ध को बेमिसाल एमएलए का खिताब भी मिल चुका है। कई लोग मंत्री और विधायक बनने के बाद अकूत संपत्ति के मालिक बन जाते हैं। बड़ी गाडिय़ों के काफिला में चलते हैं लेकिन अखिलेश सरकार राज्य मंत्री के रूप में आज शपथ लेने वाले विधायक घास-फूंस की बनी झोपड़ी में अपनी फैमिली के साथ रहते हैं।

करीब साठ वर्ष के बंशीधर बौद्ध बहराइच के वनग्राम के निवासी हैं। इन्होंने बस से जाकर अपना नामांकन कराया था। आज भी जब विधानसभा की कार्यवाही चालू न हो तो राज्यमंत्री अपने खेतों में काम भी करते हैं। विधायक बंशीधर का आवास बहराइच जिला मुख्यालय से करीब 120 किलोमीटर दूर कतर्नियाघाट के जंगल में है। विधायक की दिनचर्या भी गांव के दूसरे लोगों की तरह है। अगर लखनऊ में कोई काम और विधानसभा की कार्यवाही नहीं चल रही होती है तो खेतों में काम भी करते हैं। उनके पास छह एकड़ जमीन और एक ट्रैक्टर भी है। वह बेटों के साथ धान, गन्ना और आलू की खेती करते हैं।

जंगल में बसा उनका टेडिय़ा गांव देश की अन्य सुख सुविधाओं से कोसों दूर है। गांव में घास-फूंस के घर में उनकी तीन बहू व पांच बेटों का परिवार रहता है। उनके घर में एक टीवी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की फोटो लगी है।

Oath taking ceremony of New Ministers Five Cabinet, eight Ministers of State (Independent charge) and eight ministers of state sworn in

Uttar Pradesh Governor Mr. Ram Naik after consultation with Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav, today administered the oath of office and secrecy to five cabinet ministers, eight ministers of state (Independent charge) and eight ministers of state, at the Raj Bhawan.

The governor administered the oath of office to Mr. Arvind Kumar Singh ‘Gope’, Mr. Kamal Akhtar, Mr. Vinod Kumar aka Pandit Singh, Mr. Balwant Singh Ramoowalia, Mr. Sahab Singh Saini as cabinet ministers, Mr. Riyaz Ahmed, Mr. Fareed Mehfooz Kidwai, Mr. Mool Chandra Chauhan, Mr. Ram Sakal Gujjar, Mr. Nitin Agarwal, Mr. Yasar Shah, Mr. Madan Chauhan and Mrs. Sayyada Shadab Fatima as ministers of state (independent charge).

The Governor also administered the oath to ministers of state Mr. Radhe Shyam Singh, Mr. Shailendra Yadav ‘Lalai’, Mr. Omkar Singh Yadav, Mr. Tej Narayan Pandey aka Pawan Pandey, Mr. Sudhir Kumar Rawat, Mr. Hemraj Verma, Mr. Laxmikant aka Pappu Nishad and Banshidhar Bauddh. Mr. Hemraj Verma, minister of state, was not present at the main function and was administered the oath of office and secrecy later at the Raj Bhawan by Governor Mr. Ram Naik.

Before the ministers were sworn in, Governor Mr. Ram Naik, Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav and former Union Defence Minister Mr. Mulayam Singh Yadav garlanded a portrait of Sardar Vallabh Bhai Patel. After the oath taking ceremony of the ministers, Mr. Ram Naik administered the oath of national unity to those present.

Also present at the ceremony, other than the members of the ministry, were Chief Secretary Mr. Alok Ranjan, Principal Secretary to the Governor Mrs. Juthika Patadkar, Principal Secretary to Chief Minister, Mrs. Anita Singh and other senior officers.

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *