मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 21 दिसम्बर, 2015 को लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर टाटा ट्रस्ट्स के चेयरमैन श्री रतन टाटा के साथ।

UP Government and the Tata Trusts would enter in a long term partnership in community development related works

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 21 दिसम्बर, 2015 को लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर टाटा ट्रस्ट्स के चेयरमैन श्री रतन टाटा के साथ।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 21 दिसम्बर, 2015 को लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर टाटा ट्रस्ट्स के चेयरमैन श्री रतन टाटा के साथ।

उत्तर प्रदेश सरकार तथा टाटा ट्रस्ट्स शिक्षा और स्वास्थ्य सहित विभिन्न क्षेत्रों में सामुदायिक विकास से जुड़े कार्यों में दीर्घकालिक भागीदारी निभाएंगे। इस सहभागिता को मूर्त रूप देने के मकसद से राज्य सरकार और टाटा ट्रस्ट्स के बीच यहां 21 दिसम्बर, 2015 को एक बहुउद्देशीय ‘मेमोरेण्डम आॅफ अन्डरस्टैन्डिंग’ पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव और टाटा ट्रस्ट्स के चेयरमैन श्री रतन टाटा भी मौजूद रहेंगे।

यह जानकारी आज यहां देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि गरीबी उन्मूलन, रोजगार सृजन, आय में बढ़ोत्तरी तथा अवस्थापना विकास के जरिए समाज के गरीब और कमजोर वर्गों को सशक्त बनाने के राज्य सरकार के प्रयासों में टाटा ट्रस्ट्स द्वारा सहयोग प्रदान किया जाएगा। कार्यों के सुचारू संचालन एवं प्रभावी अनुश्रवण के लिए एक संयुक्त राज्य स्तरीय स्टीयरिंग कमेटी गठित की जाएगी। इस कमेटी में प्रदेश सरकार और टाटा ट्रस्ट्स के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश सरकार और टाटा ट्रस्ट्स जिन क्षेत्रों में मिलकर कार्य करेंगे उनमें मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य भी शामिल है। माताओं एवं बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य के लिए पोषण कार्यक्रम तैयार कर उसे लागू किया जाएगा। महिलाओं में खून की कमी को दूर करने के लिए विशेष प्रयास किए जाएंगे। प्राथमिक स्वास्थ्य तंत्र की मदद से शुरूआती चरण में ही कैंसर का पता चल जाए, इसके लिए एक प्रणाली विकसित कर लागू की जाएगी। साथ ही, कैंसर रजिस्ट्री भी तैयार की जाएगी। लोगों के रहन-सहन के स्तर को बेहतर बनाने के लिए राज्य सरकार और टाटा ट्रस्ट्स गुणवत्तापरक शिक्षा तथा रोजगारपरक प्रशिक्षण के क्षेत्रों में भी मिलकर कार्य करेंगे।

एम0ओ0यू0 में आॅफ ग्रिड सौर ऊर्जा तथा सौर ऊर्जा आधारित सिंचाई प्रणाली का विकास तथा सोलर वाॅटर लिफ्टिंग पम्प्स की स्थापना का कार्य भी शामिल होगा। इसके अलावा हाईटेक प्लाण्ट नर्सरी, हाॅर्टीकल्चर के क्षेत्र में उन्नत तकनीक एवं प्रजातियों का समावेश, एग्रो फाॅरेस्ट्री, जैविक खेती तथा कृषि उपज में बढ़ोत्तरी के लिए भी सम्मिलित रूप से प्रयास किए जाएंगे।

फसलों का सुरक्षित भण्डारण, कृषि विपणन, लघु सिंचाई प्रणाली को प्रोत्साहन, उन्नत प्रजातियों के बीजों के विकास सहित दूध, मैंथा, लहसुन, प्याज मक्का, दालों, केला, आलू आदि के लिए वैल्यू चेन का विकास भी एम0ओ0यू0 के दायरे में शामिल होगा।

To usher in cooperation, a Memorandum of Understanding would be signed on December 21

Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav and Mr. Ratan Tata would be present on the occasion

The Uttar Pradesh Government and the Tata Trusts would be entering into a long-term partnership in community development related works. To give concrete shape to this partnership, a multi-dimensional MoU would be signed between the two here on December 21, 2015.

Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav and Chairman of the Tata Trusts Mr. Ratan Tata would be present on the occasion. Giving this information, a State Government spokesman today said that the Tata Trusts would be providing support in the state government’s endeavours in poverty alleviation, employment generation, increasing income and infrastructure development.

To ensure proper execution of work and effective monitoring, a joint state-level steering committee comprising of representatives of the state government and the Tata Trusts would be constituted. The spokesman further informed that the sectors in which the state government and the Tata Trusts would be working include mother-infant health, preparing and implementation of a nutrition programme for better health of mother-child, special efforts in ensuring that anaemia (lack of blood) is eliminated in women.

A mechanism would be developed so that cancer can be detected at an early stage and a cancer registry would also be prepared. Both sides would work together to ensure quality education and job-oriented training in various sectors.

Under the MoU, developing off-grid solar energy as well as solar energy based irrigation system, establishing solar water lifting pumps, hi-tech plant nurseries, introduction of improved varieties and techniques of horticulture, assimilation of various varieties, agro-forestry, bio-farming and combined efforts to increase agriculture harvest, mechanisation, post-harvest management are some initiatives involved.

The MoU would also encompass safe storage, agri-marketing, encouraging micro-irrigation, developing high quality seeds, development of value chain for milk, menthol, garlic, onion, maize, pulses, banana and potatoes.

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *