मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया के 105वें जन्म दिवस के अवसर पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए।

Samajwadi Party chief Shri Mulayam Singh Yadav paid tributes to Ram Manohar Lohia on his 105th birth anniversary

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया के 105वें जन्म दिवस के अवसर पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया के 105वें जन्म दिवस के अवसर पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए।

The leader was at a book release of ‘Dr Lohia aur unka Samajwad’ penned by party general secretary Ram Gopal Yadav and advised the youth and his party leaders to read the novel to understand the great thinker and imbibe his ideology.

“Until you read this book and keep raising slogans, people will not agree with you,” Yadav said.

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को ‘डाॅ0 लोहिया और उनका समाजवाद’ पुस्तक का लोकार्पण करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को ‘डाॅ0 लोहिया और उनका समाजवाद’ पुस्तक का लोकार्पण करते हुए।

महान समाजवादी चितंक डा0 राम मनोहर लोहिया की 105वीं जयंती आज पूरे प्रदेश में धूमधाम से मनाई गई। समाजवादी पार्टी द्वारा सभी जिला मुख्यालयों में गोेष्ठियां कर अपने प्रेरणा पुरूष डा0 लोहिया को श्रद्धापूर्वक याद किया गया। मुख्य समारोह आज डा0 लोहिया पार्क, गोमतीनगर, लखनऊ में हुआ जहाॅ डा0 लोहिया की विशाल मूर्ति पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव एवं मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने सर्वप्रथम माल्यार्पण किया। इस अवसर पर प्रो0 राम गोपाल यादव, राष्ट्रीय महासचिव एवं साॅसद द्वारा लिखित “डा0 लोहिया और उनका समाजवाद“, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की पुस्तिका “पूरे हुए वादे, अब हैं नए इरादें तथा श्री दीपक मिश्र की “लोहिया, मुलायम व समाजवाद“ ई पुस्तक का विमोचन भी हुआ।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया के 105वें जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को डाॅ0 राम मनोहर लोहिया के 105वें जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।

आज के कार्यक्रम में विशिष्ट उपस्थिति राज्यपाल महामहिम श्री नाम नाईक की रही। उन्होने डा0 लोहिया को अपने श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि डा0 लोहिया विपक्षी एकता के शिल्पकार थे। वे समाजवाद के केवल वक्ता ही नहीं भाष्यकार भी थे। माक्र्स से इतर उन्होने भारत की परिस्थितियों के मद्देनजर समाजवाद की परिभाषा रची।

राज्यपाल महोदय ने डा0 लोहिया के भाषा संबंधी विचारों का उल्लेख करते हुए कहा कि डा0 साहब अंग्रेजी फ्रेचं और जर्मन भाषा के विद्वान थे पर हिन्दी को लोकभाषा के रूप में अपनाया था। वे मानते थे कि अन्य भाषाएं हिन्दी की बहनें हैं।

डा0 लोहिया पार्क, लखनऊ में मुख्य समारोह को सम्बोधित करते हुए श्री मुलायम सिंह यादव ने प्रो0 राम गोपाल यादव की पुस्तक के कई अंश उद्धृत किए। उन्होने कहा कि यह आगे राजनीति करनेवाले नौजवानों के लिए बहुत उपयोगी पुस्तक है। नेताजी ने कहा कि लोहिया की आज भी प्रासंगिकता है। उनकी भारत के आजादी केे आंदोलन में ही नहीं गोआ मुक्ति और नेपाल में लोकतंत्र की लड़ाई में भी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होने पश्चिमी विचारकों के साथ उपनिषदों और गांधीजी के विचारों का गहन परीक्षण कर समाजवाद की एक नई व्याख्या दी।

श्री यादव ने कहा कि डा0 लोहिया ने देश को जिस सांप्रदायिक खतरे से आगाह किया था वह हमारे लिए आज भी चुनौती बनकर खड़ा है। उन्होने इस संबंध में अयोध्या विवाद का जिक्र किया जब संविधान की रक्षा के लिए उन्होने अपनी सरकार भी दांव पर लगा दी थी। नेताजी ने इस मौके पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को डा0 लोहिया का साहित्य पढ़ने, अपने आचरण में शिष्टाचार बरतने तथा जनसामान्य के सुखदुःख में सहभागी बनने की सीख दी। उन्होने यह भी कहा कि समाजवाद का अर्थ समता और सम्पन्नता है। समाजवादी सबकी खुशहाली के लिए संकल्पित है।

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि डा0 लोहिया ने जो रास्ता सुझाया उस पर चलकर और उसे आगे बढ़ाने का काम नेताजी और समाजवादी पार्टी ने किया। इसी के परिणामस्वरूप समाजवादी पार्टी एक बड़ी ताकत बनकर उभरी है। अब इसका विस्तार अन्य राज्यों तक करना है। उन्होने अपनी सरकार की तमाम उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि हमने पांच साल के तमाम वायदे तीन साल में पूरे कर दिए। अब समाजवादी साथियों को जनता को भरोसे में लेकर आगे और पांच साल की सरकार बनाने के लिए अनुशासन और एकजुटता से काम करना होगा।

श्री अखिलेश यादव ने कहा कि वर्ष 2017 में होनेवाले विधान सभा चुनाव में नौजवानों के सबसे ज्यादा वोट होगें। नौजवान साथियों को हर क्षेत्र में आए बदलाव की जानकारी लोगों तक पहुॅचाने के साथ उनको अपनी विचारधारा से भी जोड़ना चाहिए ताकि वे हमारे वोट भी बने। उन्होने दावा किया कि कृषि अर्थव्यवस्था के साथ बुनियादी ढांचे को मजबूत करते हुए बिजली, सड़क, पानी के लिए कई परियोजनाओं पर काम हो रहा है। उन्होने बताया कि शीघ्र ही योजनाएं ऐप पर भी दी जाएगी।
“प्रो0 राम गोपाल, राष्ट्रीय महासचिव ने अपनी पुस्तक“ डा0 लोहिया और उनका समाजवाद“ के विषयवस्तु की चर्चा करते हुए कहा कि लोहिया जी पर काफी कुछ लिखा गया है। लेखको के निष्कर्षो में भिन्नता हो सकती है। एक बात का अलग-अलग ढंग से विश्लेषण हो सकता है। सब कुछ सापेक्ष है, अंतिम सत्य नहीं।

प्रो0 राम गोपाल ने कहा कि डा0 लोहिया युगद्रष्टा और भविष्य द्रष्टा थे। उनके विचारों को जमीन पर उतारने का काम नेताजी ने किया हैं। डा0 लोहिया ने जो भविष्यवाणियां की थी, कई सत्य साबित हुई और कुछ कालांतर में सत्य सिद्ध होगी। उन्होने सामाजिक, आर्थिक विषमता पर चोट की थी और वंचित वर्ग के लिए विशेष अवसर का सिद्धांत दिया। जब उन्होने “संसोपा में बांधी गांठ, सौ में पाएं पिछड़े साठ“ का नारा दिया था तब लोगों ने सोचा भी नहीं था कि ऐसा भी होगा। अंततः पिछड़ों को आरक्षण का लाभ मिला। डा0 साहब ने जाति, भाषा, रंग, नस्ल के आधार पर भेदभाव का भी कहा विरोध किया था। वे मौलिक चितंक थे।

इससे पूर्व लोहिया ट्रस्ट, विक्रमादित्य मार्ग, लखनऊ, लोहिया पार्क, चैक तथा लोहिया अस्पताल, गोमतीनगर में डा0 लोहिया की प्रतिमाओं पर समाजवादी नेताओं ने माल्यार्पण किया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को लोहिया पार्क, लखनऊ में पुस्तक व ‘ईबुक, ई समाजवादी’ का लोकार्पण करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 23 मार्च, 2015 को लोहिया पार्क, लखनऊ में पुस्तक व ‘ईबुक, ई समाजवादी’ का लोकार्पण करते हुए।

समारोह में विधानसभाध्यक्ष श्री माता प्रसाद पाण्डेय, वरिष्ठ मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव, पूर्व साॅसद श्री भगवती सिंह, राष्ट्रीय महासचिव श्री किरनमय नन्दा, साॅसद श्रीमती जया बच्चन साॅसद, रंजना बाजपेयी तथा शादाब फातिमा ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर सर्वश्री अहमद हसन, बलराम यादव, राजेन्द्र चैधरी, अशोक बाजपेयी, अवधेश प्रसाद, अरविन्द सिंह गोप, श्रीमती डिम्पल यादव, नरेश उत्तम, राम आसरे विश्वकर्मा, डा0 मधु गुप्ता, श्रीमती सरोजनी अग्रवाल, राज किशोर मिश्र, रामवृक्ष यादव, जयप्रकाश अंचल, डा0 हीरा ठाकुर, आशु मलिक, विजय यादव, गीता सिंह, गायत्री प्रसाद प्रजापति, एस0आर0एस0 यादव, मनोज पाण्डेय, सुनील यादव, डा0 राजपाल कश्यप, राम सागर यादव, आनन्द भदौरिया, बृजेश यादव, मो0 एबाद सोनम सिंह यादव आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

आज सायंकाल समाजवादी पार्टी मुख्यालय लखनऊ में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव की उपस्थिति में“ डा0 लोहिया समागार“ का लोकार्पण भी किया। इसमें लगभग 500 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। 

डा0 लोहिया सभागार के उद्घाटन के बाद उपस्थित हजारों पार्टी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए श्री मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सन् 2017 में फिर समाजवादी सरकार बनाना गम्भीर चुनाॅती है। भाजपा का विकल्प कांग्रेस नहीं समाजवादी पार्टी होगी। लेकिन जब पार्टी मजबूत होगी तभी विपक्ष के हमलों से बचाव कर पाएगें। उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी सबसे अलग लोहियावादी पार्टी है। अब इसका विस्तार राष्ट्रव्यापी होना चाहिए।

श्री यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं से अनुशासन में रहने, पार्टी की नीति, कार्यक्रम एवं फैसलों से भलीभांति परिचित होने और जनता के बीच उनका प्रचार करने के साथ बेदाग आचरण का पाठ पढ़ाया।

श्री मुलायम सिंह यादव
श्री मुलायम सिंह यादव

इससे पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि नए सभागार में अब पार्टी की मीटिंगे सुविधाजनक ढंग से हो सकेगी। उन्होने कार्यकर्ताओं से यह संकल्प लेने को कहा कि पार्टी को मजबूती देने को समाजवादी रास्ते पर चलते हुए इसके कार्यक्रमों, फैसलों से जनसामान्य को जोड़ने का काम करना है। श्री यादव ने कहा कि प्रदेश काफी बड़ा है और इसकी समस्याएं भी बड़ी है। किन्तु फिर भी गांव और शहर के लिए तमाम परियोजनाओं पर काम हुआ है। उन्होने कहा भाजपा ने नारे तमाम दिए पर जमीन पर असर नहीं दिख रहा है।

वरिष्ठ मंत्री श्री शिवपाल सिंह यादव ने संगठन को मजबूत करने के लिए मासिक बैठकें करने पर जोर दिया। उन्होने कहा कि हमने काम बहुत किया पर उसका प्रचार नहीं हो पा रहा है। संगठन में चापलूस और ठेकेदार किस्म के लोग पदाधिकारी नहीं होने चाहिए।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *