Road accident

Resident of RPS Society injured but not helped by Faridabad Police

ग्रेटर फरीदाबाद के आरपीएस सोसायटी निवासी एक घंटे तक कार में तड़पता रहा, खट्टर की सोती पुलिस ने नहीं की मदद

फरीदाबाद के खेड़ीपुल चौक के पास थाने से महज चंद कदम की दूरी पर शुक्रवार रात कार सवार घायल अवस्था में करीब एक घंटे तक तड़पता रहा, मगर खेड़ीपुल थाना पुलिस गेट बंद करके सोती रही। वहां से गुजरने वाले लोगों ने थाने का गेट खटखटा कर मदद मांगने की कोशिश की तो खेड़ीपुल थाना में मौजूद पुलिस कर्मियों ने दूसरे थाने का मामला बता कर पल्ला झाड़ लिया। बाद में सूचना मिलने पर हरकत में आई ओल्ड फरीदाबाद पुलिस ने घायल को सेक्टर-16 स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

खेड़ीपुल थाने के पास शुक्रवार रात करीब 11.30 बजे बाईपास रोड पर एक कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से जा टकराई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि ड्राइवर साइड का एयरबैग खुल गया। इससे उसमें सवार युवक गाड़ी में फंस गया। वहां से गुजर रहे लोगों ने घायल युवक को कार से निकालने का प्रयास किया, मगर वह सफल नहीं हो सके।

खेड़ीपुल थाने के समीप चौराहे पर दुर्घटना होने पर राहगीर पुलिस की मदद लेने के लिए वहां पहुंचे, मगर थाने का गेट बंद था। इस पर लोगों ने गेट खटखटाया और पुलिसकर्मियों को आवाज भी लगाई, मगर गेट नहीं खुला। इस पर कुछ लोगों ने वहां वीडियो बनानी शुरू कर दी। वीडियो बनाने वालों ने दिखाया कि सामने दुर्घटना हो रखी है और इधर थाने का गेट बंद पड़ा है।

काफी आवाज लगाने पर थाने से एक पुलिसकर्मी निकलकर आया। लोगों ने उसे सारी बात बताई। इस पर उस पुलिसकर्मी ने किसी तरह की मदद की बजाय ओल्ड फरीदाबाद थाने का मामला बताकर पल्ला झाड़ लिया। कहने सुनने पर उस पुलिसकर्मी ने ओल्ड थाना पुलिस को फोन कर घटना की सूचना दी। इस पर ओल्ड थाना पुलिस मौके पर पहुंची और काफी मशक्कत के बाद घायल युवक को गाड़ी से निकाल कर सेक्टर-16 स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

ओल्ड फरीदाबाद थाना प्रभारी सैफुद्दीन ने बताया कि उन्हें देर रात करीब 12 बजे एक कार के अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंच कर उनकी टीम ने घायल को सेक्टर-16 एक अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया।

उसके पास से मिले दस्तावेज के आधार पर उसकी पहचान अरूण के रूप में की है। वह नहरपार ग्रेटर फरीदाबाद के आरपीएस सोसायटी का रहने वाला है। उन्होंने बताया कि देर रात ही घायल अरुण के परिजन को मामले की सूचना दे दी गई थी।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *