उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 6 अगस्त, 2015 को लखनऊ में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स द्वारा प्रकाशित प्रोग्रेसिव उत्तर प्रदेश नामक पुस्तिका का विमोचन करते हुए।

PIB approves Green Signal To Lucknow Metro: Akhilesh Yadav Chief Minister

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 6 अगस्त, 2015 को लखनऊ में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स द्वारा प्रकाशित प्रोग्रेसिव उत्तर प्रदेश नामक पुस्तिका का विमोचन करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 6 अगस्त, 2015 को लखनऊ में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स द्वारा प्रकाशित प्रोग्रेसिव उत्तर प्रदेश नामक पुस्तिका का विमोचन करते हुए।

लखनऊ मेट्रो को पीआइबी का ग्रीन सिगनल

लखनऊ में अब मेट्रो के संचालन में धन की कमी आड़े नहीं आएगी। लखनऊ मेट्रो परियोजना को पबिल्क इनवेस्टमेंट बोर्ड (पीआईबी) की मंजूरी मिल गई है। पीआईबी की बैठक आज दिल्ली में थी। जिसमें उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन गये थे।

पीआईबी की मंजूरी के बाद अब लखनऊ में नार्थ-साउथ मेट्रो कारिडोर का निर्माण तेजी से होगा। इसकी मंजूरी लखनऊ मेट्रो के प्रोजेक्ट में एक बड़ा कदम है। लखनऊ में मेट्रो के प्रोजेक्ट के लिए केंद्र तथा उत्तर प्रदेश सरकार 1300-1300 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च कर रहे हैं। एक कारिडोर 22 किलोमीटर का है। पीआईबी की मंजूरी के बाद अब लखनऊ मेट्रो प्रोजेक्ट में यूरोपियन इनवेस्टमेंट बोर्ड 3500 करोड़ रुपये की धनराशि लगाने को तैयार है। लखनऊ मेट्रो का पूरा प्रोजेक्ट 6800 करोड़ रुपये का है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का लक्ष्य 2017 के चुनाव से पहले लखनऊ में मेट्रो को चलाने का है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव  6 अगस्त, 2015 को लखनऊ में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 6 अगस्त, 2015 को लखनऊ में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।

प्रोजेक्ट न हुए पूरे तो लोग हम पर नहीं करेंगे भरोसा : मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गुरुवार को कहा कि समाजवादी सरकार बुनियादी ढांचे से जुड़ी सभी परियोजनाओं को अगले विधानसभा चुनाव से पहले पूरा करेगी क्योंकि यदि ऐसा नहीं हुआ तो लोग उन पर भरोसा नहीं करेंगे। वह पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से राजधानी के होटल ताज में आयोजित इंफ्रास्ट्रक्चर समिट को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि यह उनकी सरकार के कामकाज का ही नतीजा है कि केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश में 13 स्मार्ट सिटी को मंजूरी देने का निर्णय किया है। स्मार्ट सिटी में क्या-क्या होगा, इसका उन्हें भी इंतजार है। संसद में सबसे ज्यादा सांसद उत्तर प्रदेश ने भेजे हैं। लिहाजा उत्तर प्रदेश में और स्मार्ट सिटी होनी चाहिए। लखनऊ मेट्रो को केंद्र के प्रोजेक्ट इन्वेस्टमेंट बोर्ड की मंजूरी मिलने की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री के संसदीय क्षेत्र के बाद अब प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी मेट्रो रेल का काम शुरू होना चाहिए। राज्य सरकार के बिना तो मेट्रो रेल का काम शुरू नहीं हो सकता, इसलिए केंद्र वाराणसी में मेट्रो रेल के लिए जल्दी और ज्यादा से ज्यादा सहयोग दे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 6 अगस्त, 2015 को लखनऊ में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स के तत्वावधान में आयोजित कायर्यक्रम के अवसर पर।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 6 अगस्त, 2015 को लखनऊ में पीएचडी चैम्बर्स आॅफ काॅमर्स के तत्वावधान में आयोजित कायर्यक्रम के अवसर पर।

बकौल मुख्यमंत्री, सरकार बिजली का उत्पादन और ट्रांसमिशन सुधारने में जुटी है लेकिन इसके नतीजे 2017 तक सामने आयेंगे जब सूबे को पर्याप्त बिजली मिलने लगेगी। इस बीच जरूरत पड़ी तो सरकार बिजली खरीदेगी भी। उन्होंने कहा कि 302 किमी लंबा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे रिकार्ड समय में देश में बनने वाला पहला ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे होगा। इसके बनने से उद्योग-व्यापार के साथ प्रदेश में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। लखनऊ में पहले से कहीं ज्यादा पर्यटक आएंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने पीएचडी चैंबर की रिपोर्ट ‘प्रोग्रेसिव उत्तर प्रदेश’ का विमोचन भी किया। इस रिपोर्ट में अगले तीन वर्षों के दौरान उप्र में बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में 100 बिलियन अमेरिकी डॉलर के निवेश की संभावना जतायी गई है।

इससे पहले कार्यक्रम में लखनऊ मेट्रो रेल कार्पोरेशन के निदेशक महेंद्र कुमार ने लखनऊ मेट्रो और उप्र एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवनीत सहगल ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर प्रस्तुतीकरण किया। सहगल ने बताया कि अपर गंगा कैनाल के दाहिने किनारे पर बुलंदशहर में सनौटा ब्रिज से मुजफ्फरनगर में पुरकाजी तक और झांसी-कानपुर-लखनऊ-गोरखपुर से कुशीनगर तक प्रवेश नियंत्रित एक्सप्रेसवे बनाने की कार्यवाही जल्दी शुरू होगी। परिवहन आयुक्त के.रवींद्र नायक ने सड़क दुर्घटनाओं को रोकने में कार्पोरेट सामाजिक दायित्व पर विचार व्यक्त किया तो प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास महेश कुमार गुप्ता ने निवेश बढ़ाने के लिए राज्य सरकार के प्रयासों की जानकारी दी। कार्यक्रम को सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक बिंदेश्वरी पाठक, व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्य मंत्री अभिषेक मिश्रा, पीएचडी चैंबर के अध्यक्ष ललित खेतान व उपाध्यक्ष महेश गुप्ता ने भी संबोधित किया।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *