समाजवादी पार्टी

Naresh Uttam elected as state president of Samajwadi Party

समाजवादी पार्टी
समाजवादी पार्टी

समाजवादी पार्टी का 8वां राज्य सम्मेलन, नरेश उत्तम चुने गए नए प्रदेश अध्यक्ष

राजधानी लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में शनिवार को समाजवादी पार्टी का राज्य सम्मेलन की शुरुआत हुई. वहीं सम्मेलन में नरेश उत्तम को सपा के नए प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर चुने गए है. बतौर निर्वाचक अधिकारी रामगोपाल यादव ने प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा करते हुए कहा कि किसी अन्य का नाम नहीं होने की वजह से नरेश उत्तम को निर्विरोध अध्यक्ष घोषित किया गया है.

ओम प्रकाश के बोलने के बाद आवाज उठी- गद्दारों को बाहर करो

– सपा सम्मेलन में एक और बात बड़ी रोचक रही क‍ि शिवपाल यादव के करीबी पूर्व मंत्री ओमप्रकाश भी सपा के मंच पर मौजूद दिखे। वो भी मुलायम सिंह और शिवपाल यादव को नहीं बुलाने के बावजूद पहुंचे थे।

– ओमप्रकाश ने अपने सम्बोधन में अखिलेश यादव की बहुत बड़ाई की और उन्हें धर्म का योद्धा तक बना डाला। ओम प्रकाश ने कहा, अखिलेश यादव का साथ हमें हर मुश्किलों से लड़ने को रास्ता दिखाएगा।

– नेताजी ने जो दिशा हमें दिखाई, उसका मार्गदर्शन अखिलेश यादव करने से हमारी साम्प्रदायिक ताकतों की लड़ाई लड़ने में मदद मिलेगी। ओमप्रकाश का सम्बोधन करीब 18 मिनट तक चला।

– ओम प्रकाश के बाद कई बड़े नेताओं ने जिसमें राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल प्रमुख रहे। उन्होंने ओमप्रकाश और बलवंत सिंह रामूवालिया पर बिना नाम लिए कमेंट करते हुए कहा, ”मैं निवेदन करता हूं कि गद्दारों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जाना चाहिए।”

– ” अखिलेश यादव जी हमारी पार्टी तभी मजबूत होगी, जब अंदर के गद्दारों को बाहर निकालकर पार्टी को साफ किया जाएगा। अगले राष्ट्रीय अधिवेशन में हमें ऐसे लोगों की खोज करके बाहर कर देना चाहिए, वरना जमीन से जुड़ा आम कार्यकर्ता पर गलत प्रभाव पड़ेगा।”

सपा से हटेंगे शिवपाल के ‘चेले’, छंटनी के बाद गठित होंगी जिला इकाई

सपा की नई प्रदेश इकाई का गठन आज लखनऊ में किया गया। कानपुर के नरेश उत्तम के दोबारा से अध्यक्ष बनाए जाने के बाद, यह चर्चा तेज हो गई है कि पार्टी की जिला इकाइयों में जल्द ही फेरबदल किया जाएगा। जिला इकाइयों के गठन से पहले शिवपाल यादव के समर्थकों की लिस्ट बनाई जाएगी। मतलब यह कि जिम्मेदारी सिर्फ अखिलेश समर्थकों के पास होगी, शिवपाल और मुलायम के लोग पार्टी में रहना चाहें तो बने रह सकते हैं।

पता चला है कि जिलों से प्रदेश अध्यक्ष उत्तम को बधाई देने गए सपा कार्यकर्ताओं को खास हिदायत दी गई है। कहा गया है कि कार्यकर्ता पार्टी की विचारधारा को समझ लें। जो लोेग भितरघात करके सिर्फ अपना मतलब निकालना चाह रहे हैं, वे भी टारगेट पर हैं। जल्द ही पार्टी ऐसे लोगों की एक सूची तैयार कर उसका खुलासा करेगी। इस बीच यह तय हो गया है कि कानपुर महानगर, नगर ग्रामीण और देहात इकाई में भारी फेरबदल किया जाएगा।

कुछ पुराने वफादार नेताओं और कुछ नई पीढ़ी के कार्यकर्ताओं को इस बार बड़ी ज्रिम्मेदारी देने की योजना बन रही है। प्रदेश अध्यक्ष की शनिवार को लखनऊ में ताजपोशी के तत्काल बाद सभी कार्यकर्ताओं से राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने मुलाकात की।

कानपुर महानगर के दोनों विधायक अमिताभ बाजपेई और इरफान सोलंकी भी वहां मौजूद रहे। इस बीच प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने बताया कि पार्टी फिलहाल पांच अक्टूबर को होने वाले पार्टी के राष्ट्रीय अधिवेशन की तैयारी में जुटी है। इसके तत्काल बाद जिलों की इकाइयों का नए सिरे से गठन होगा।

एक दलीय शासन की तरफ बढ़ रहा देश, 2019 में मोदी आए तो फिर नहीं होंगे चुनाव: रामगोपाल यादव

सपा के प्रमुख महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि देश एकदलीय शासन प्रणाली की तरफ जा रहा है। यदि 2019 में नरेंद्र मोदी फिर आ गए तो देश में आगे से चुनाव नहीं होंगे। रामगोपाल शनिवार को रमाबाई अंबेडकर मैदान में सपा के राज्य सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, हिटलर भी देश का गौरव वापस लाने के नाम पर सत्ता में आए थे और तानाशाह बन गए। जर्मनी को इसकी बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी।

वहीं, सम्मेलन में अखिलेश यादव ने इशारों ही इशारों में शिवपाल सिंह यादव पर निशाना साधा। कहा, बनावटी समाजवादियों से सावधान रहना है। हमारे खिलाफ कई बार साजिशें हुई हैं। एक साजिश तो कामयाब भी रही और सपा विधानसभा चुनाव हार गई, लेकिन साजिशें करने वाले अब सफल नहीं होंगे।

सपा की स्थापना के बाद यह पहला सम्मेलन था जिसमें मुलायम और शिवपाल मौजूद नहीं थे। मुख्य मंच पर बैकड्रॉप में अखिलेश के साथ मुलायम की फोटो लगी हुई था लेकिन शिवपाल सपा की प्रचार सामग्री से नदारद थे।

अखिलेश ने कहा, नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने तमाम नेताओं को साथ लेकर समाजवादी आंदोलन को बढ़ाया। वे हमारे पिता हैं। उनका आशीर्वाद साथ है और आगे भी साथ रहेगा तो समाजवादी आंदोलन बढ़ता रहेगा।

‘लोग समाजवादियों की तरफ देख रहे हैं’ – अखिलेश यादव

अखिलेश ने कहा कि समाजवादियों की तरफ लोग देख रहे हैं। दूसरी पार्टियों के नेता सपा में आ रहे हैं। हमें जनता के बीच जाना है, सरकार की नाकामियों को बताना है। गोरखपुर व फूलपुर में लोकसभा उपचुनाव मजबूती से लड़ना है। योगी आदित्यनाथ का नाम लिए बिना कहा कि गोरखपुर से सीएम बन गए लेकिन बच्चों की जान चली गई। सरकार ने उनकी मदद नहीं की। पीड़ित परिवारों की मदद समाजवादियों ने की है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को इशारे ही इशारे में शिवपाल सिंह यादव पर निशाना साधा। कार्यकर्ताओं से कहा, बनावटी समाजवादियों से सावधान रहना है। हमारे खिलाफ कई बार साजिशें हुई हैं। एक साजिश तो कामयाब भी रही और सपा विधानसभा चुनाव हार गई, लेकिन साजिशें करने वाले अब सफल नहीं होंगे।

भाजपा को सत्ता से हटाना पहला लक्ष्य – रामगोविंद चौधरी

विधानसभा में नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी ने राजनीतिक एवं आर्थिक प्रस्ताव रखा। इस पर एक दर्जन नेताओं ने विचार रखे। उनके सुझावों को शामिल करते हुए प्रस्ताव पारित कर दिया गया। इसमें भाजपा को 2019 में केंद्र की सत्ता से हटाने को पहला लक्ष्य बताया गया है।

आजम ने अल्पसंख्यकों को डराया, कहा- मोदी राज में रोहिंग्या मुसलमानों जैसी हो सकती है हालत

सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खां ने मुसलमानों को डराते हुए भाजपा पर हमला किया। उन्होंने कहा, मोदी राज में मुसलमानों की हालत रोहिंग्या मुसलमानों जैसी हो सकती है। कहा, यदि हमारी वजह से देश का सुख-चैन छिन रहा है तो बैठकर बात करो। गुजरात, मुजफ्फरनगर की तरह खून न बहाओ।

आजम सपा सम्मेलन में कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रहे थे। सम्मेलन में विधानसभा में नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी ने राजनीतिक एवं आर्थिक प्रस्ताव रखा। इस पर एक दर्जन नेताओं ने विचार रखे। उनके सुझावों को शामिल करते हुए प्रस्ताव पारित कर दिया गया। इसमें भाजपा को 2019 में केंद्र की सत्ता से हटाने को पहला लक्ष्य बताया गया है।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *