Cow

Madhwalia go sadan Maharajganj died 40 cow

Agricultural
Agricultural

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट मधवालिया गोसदन में 40 गायों की दर्दनाक मौत, मीडिया कवरेज पर प्रतिबंध

एक तरफ जहां हिंदू संगठनों से जुड़े लोग देश भर में गौरक्षा के नाम पर आतंक फैलाते हुए एक गाय के तस्कर को भी पकड़ ले तों उसकी हत्या करने पर आमादा हो जा रहे हैं वहीं सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ के सबसे प्रिय प्रोजेक्ट में से एक मधवलिया गोसदन में अचानक 40 से अधिक गायों की सनसनीखेज रहस्यमय मौत हो गयी है। इसके बाद कई तरह के सवाल उठ खड़े हुए हैं।

महराजगंज: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह निवास गोरखपुर से महज 70 किमी की दूरी पर स्थित जिले के मधवालिया गो सदन से सबसे बड़ी दर्दनाक

मधवलिया गोसदन में पिछले तीन से चार दिनों में जबरदस्त कुप्रबंधन के कारण 40 से अधिक गायों की दर्दनाक मौत की खबर है। यह भी खबर है कि मृत गायों की संख्या और भी ज्यादा है। खबर वायरल होने के बाद चारों तरफ हड़कंप मच गया है। जिला प्रशासन अपनी घनघोर लापरवाही को छिपाने के लिए युद्धस्तर पर जुट गया है।

प्रभारी जिलाधिकारी और एडीएम की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में

लापरवाही की हद यह है कि जिला मुख्यालय से प्रभारी जिलाधिकारी/सीडीओ राम सिंहासन प्रेम और अपर जिलाधिकारी आरपी कश्यप जैसे वरिष्ठ अधिकारी इतनी बड़ी घटना के बाद भी मौके पर जाना मुनासिब नही समझे। ये अफसर मौके पर जाने की बजाय अपने सरकारी घर पर छुट्टी मना रहे हैं और जाड़े में हीटर का मजा ले रहे हैं। इससे साफ है कि जिले केअफसर इस घटना को लेकर कितने लापरवाह हैं।

एक साथ मृत मिली 6 गायें

खबर यह है कि जिलाधिकारी आवश्यक कार्यों से छुट्टी पर हैं ऐसे में प्रभारी जिलाधिकारी/सीडीओ और एडीएम की घनघोर लापरवाही समझ से परे हैं। इन्हें अपने सस्पेंशन का न तो डर है और न ही सीएम के कड़क तेवरों का कोई एहसास।

सिर्फ तहसील स्तर के अधिकारी मौके पर, लीपापोती तेज| पूरे गोसदन क्षेत्र में जहां-तहां बिखरे हैं गायों के कंकाल

मौके पर सिर्फ स्थानीय तहसील के अधिकारी है जो युद्ध स्तर पर मामले की लीपापोती में जुटे हैं ताकि किसी को इतनी बड़ी घटना की कानो-कान कोई खबर न हो। स्थानीय लोगों के मुताबिक प्रशासन जेसीबी मशीन लाकर आनन-फानन में गायों की लाशों को सामूहिक तौर पर जमीन में गाड़ने की तैयारी में हैं। ग्रामीणों के मुताबिक मृत गायों की संख्या 80 तक है लेकिन फिलहाल 40 गायों की मौत स्पष्ट मौके पर दिख रही है। यह मौतें पिछले 15 दिन से लगातार हो रही हैं। गोसदन से जुड़े सूत्र सिर्फ 20-22 गायों की मौत की पुष्टि कर रहे हैं।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *