मुख्यमंत्री याेगी अादित्यनाथ

Five year old child kidnap in Gonda

Kidnapping in Gonda: गोंडा में दिनदहाड़े किराना व्यवसायी के बेटे का अपहरण, मांगी चार करोड़ फिरौती

Kidnapping in Gonda: उत्तर प्रदेश के कानपुर के बाद अब गोंडा में अपहरण का मामला सामने आया है। शुक्रवार की दोपहर मास्क व सैनिटाइजर बांटने के बहाने बदमाशों ने किराना व्यवसायी के आठ वर्षीय बेटे का अपहरण कर लिया। बताया जा रहा है कि बच्चे को छोड़ने के लिए व्यवसायी से चार करोड़ रुपये की मांग की गई है। फिल्मी स्टाइल में हुई घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। पूरी घटना सीसी कैमरे में कैद हो गई। जिसकी मदद से पुलिस मामले की छानबीन में लगी है।

मास्क व सैनिटाइजर देने के बहाने किया अगवा

मामला कर्नलगंज कोतवाली क्षेत्र का है। कस्बे के गाड़ी बाजार मुहल्ला निवासी किराना व्यवसायी रामजी गुप्त ने बताया कि शुक्रवार की दोपहर दो व्यक्ति उनके घर पर आए। उन लोगों ने खुद को स्वास्थ्य विभाग से होने की जानकारी देते हुए मास्क व सैनिटाइजर बांटने की बात कही। भाई हरी गुप्त से मोबाइल नंबर लेते हुए कहा कि मास्क व सैनिटाइजर देने के लिए किसी को गाड़ी तक भेज दीजिए। इस पर परिवारजन ने हरि के आठ वर्षीय पुत्र आरुष उर्फ नमो को भेज दिया। बताया गया कि कार सवार बदमाश बच्चे को वहीं से अगवा कर भाग निकले। कुछ देर बाद बच्चा वापस घर नहीं लौटा तो परिवारजनों ने खोजबीन शुरू की। तभी हरी गुप्त के मोबाइल पर फोन करके बदमाशों ने फिरौती की मांग की। साथ ही पुलिस को जानकारी न देने की धमकी भी दी। इसकी जानकारी पुलिस को दी गई है। कर्नलगंज कोतवाल राजनाथ सिंह मांगी गई फिरौती की रकम के बारे में कुछ भी बताने से गुरेज कर रहे हैं।

पुलिस चौकी के पीछे है मकान

किराना व्यवसायी का घर कर्नलगंज कस्बे में पुलिस चौकी के पीछे है। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से पुलिस की सक्रियता पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं। पुलिस अब सीसी कैमरे की फुटेज से बदमाशों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

क्या कहती है पुलिस ?

अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार के मुताबिक, बालक के अपहरण का मामला प्रकाश में आया है। मौके पर हूं। इनपुट जुटाया जा रहा है। पूरे जिले में वाहनों की जांच कराई जा रही है। फिरौती की रकम के बारे में अभी जानकारी नहीं है।

सीसी कैमरे में कैद हुई वारदात

व्यवसायी पुत्र आरुष उर्फ नमो के अपहरण की पूरी वारदात सीसी कैमरे में कैद हो गई है। दोपहर एक बजकर 36 मिनट के फुटेज पर हरे रंग की शर्ट पहने युवक बच्चे को कुछ दूरी पर खड़ी कार के पास ले जाते हुए दिखाई दिया। वह किनारे खड़ी अल्टो कार में बच्चे को बैठा लेता है। कुछ सेकेंड तक वह बाहर देखने के बाद वहां से कच्चे रास्ते से होकर निकल गया। बताया जाता है कि जिस रास्ते का उपयोग किया गया, आम तौर पर उस पर कीचड़ रहता है। शुक्रवार को वह रास्ता सूखा था। ऐसे में इस बात की ताईद होती है कि घटना को अंजाम देने से पूर्व बदमाशों ने पूरे क्षेत्र की रेकी कर ली थी। सुनियोजित ढंग से घटना को अंजाम दिया गया है। इसमें एक महिला के भी शामिल होने की चर्चा है। उसी द्वारा पीड़ित पिता को फोन कर फिरौती की रकम मांगे जाने की बात सामने आ रही है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर अबतक इसकी पुष्टि नहीं हुई है। आरुष उर्फ नमो हरी का बड़ा बेटा है। इसके बाद बेटी है। डीआइजी देवीपाटन डॉ. राकेश सिंह ने बताया कि मौके पर हूं, मामले की जांच की जा रही है।

अखिलेश ने कहा-अपराधियों ने किया सरकार का ही एनकाउंटर

कानपुर में पैथोलॉजी कर्मी संजीत यादव की अपहरण और फिर हत्या के बाद गोंडा जिले में नया मामला सामने आ गया है। शुक्रवार दोपहर बदमाशों ने एक व्यवसायी के आठ वर्षीय पुत्र का अपहरण कर लिया। बच्चे को छोड़ने के लिए चार करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की गई है। सूबे की कानून-व्यवस्था को लेकर पहले से आक्रमक विपक्ष ने इस घटना पर भी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार अगर उत्तर प्रदेश के बच्चों की रक्षा नहीं कर सकती है तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘कानपुर के बाद अब गोंडा में एक व्यापारी के बच्चे के अपहरण की खबर से उत्तर प्रदेश की जनता में घोर आक्रोश फैल गया है। भाजपा सरकार अगर उत्तर प्रदेश के बच्चों की रक्षा नहीं कर सकती है तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं। लगता है अपराधियों ने एनकाउंटर वाली सरकार का ही एनकाउंटर कर दिया है।’

बता दें कि गोंडा जिले कर्नलगंज क्षेत्र में मास्क और सैनिटाइजर बांटने के बहाने शुक्रवार की दोपहर बदमाशों ने एक पान मसाला व गुटखा व्यवसायी के आठ वर्षीय पुत्र का अपहरण कर लिया। बच्चे को छोड़ने के लिए व्यवसायी से चार करोड़ रुपये की मांग की गई है। व्यवसायी राजेश गुप्त के पुत्र रामजी गुप्त ने बताया कि शुक्रवार दोपहर दो व्यक्ति उनके घर पर आए। उन लोगों ने खुद के स्वास्थ्य विभाग से होने की जानकारी देते हुए मास्क व सैनिटाइजर बांटने की बात कही। उनके भाई हरि गुप्त से मोबाइल नंबर लेते हुए कहा कि मास्क व सैनिटाइजर देने के लिए किसी को गाड़ी तक भेज दीजिए, जिस पर परिवारजन ने राजेश गुप्त के आठ वर्षीय पौत्र नमो गुप्त को भेज दिया। बताया गया कि कार सवार बदमाश बच्चे को वहीं से अगवा कर ले गए। फिर हरि गुप्त के मोबाइल पर फोन करके बदमाशों ने फिरौती की मांग की।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *