Girls

Father murdered his daughter

पिता आर्थिक तंगी के कारण नहीं भर पा रहा था बेटी की स्कूल फीस, गला घोंटकर मार डाला

कुरुक्षेत्र के थाना लाडवा के अंतर्गत गांव दबखेड़ा में एक पिता ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर अपनी छह वर्षीय इकलौती बेटी की गला घोंटकर हत्या कर दी। आरोपित पिता एक निजी संस्थान में कार्य करता है। वह बेटी के स्कूल की फीस व घर का खर्च नहीं चला पा रहा था। इसे लेकर परेशान रह रहा था। आठ साल पहले उसने हरजिंदर कौर से प्रेम विवाह किया था। इस कारण पिता ने भी उसे अपनी संपति से बेदखल कर दिया था। उसे घर से भी कोई सहयोग नहीं मिल रहा था। पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

मृतक की पत्नी हरजिंदर कौर ने थाना लाडवा में शिकायत दर्ज कराई कि उसकी छह वर्षीय बेटी असमीत कौर लाडवा के एक स्कूल में पहली कक्षा में पढ़ती थी। उसका पति प्राइवेट नौकरी करता है। बुधवार सायं को वह घर वापस आया तो असमीत कौर को साथ लेकर घूमने के लिए चला गया। उसके पीछे-पीछे उसका ससुर निर्मल सिंह भी गया था। थोड़ी देर बाद उसका पति अपनी छह वर्षीय बेटी को गोद में उठाकर घर लौटा।

बेटी बेहोश थी और उसके गले पर निशान थे। बेहोशी की हालत में उसे लाडवा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे कुरुक्षेत्र एलएनजेपी अस्पताल में भेज दिया। चिकित्सकों ने जांच कर उसे मृत घोषित कर दिया। शिकायत में बताया कि असमीत कौर का गला दबाकर हत्या करते समय उसके ससुर निर्मल सिंह ने देखा था। शिकायत के आधार पर पुलिस ने केस दर्ज कर जसबीर सिंंह को काबू किया। घटना के बाद एसपी आस्था मोदी भी मौके पर पहुंची तथा पुलिस अधिकारियों को जांच के आदेश दिए।

पिता ने किया हुआ है जसबीर को बेदखल

दबखेड़ा निवासी जसबीर सिंह ने आठ साल पहले पंजाब की हरजिंदर कौर से प्रेम विवाह किया था। परिवार वाले इस शादी से खुश नहीं थे। जिसके चलते शादी के कई महीनों तक वह अपने परिवार से अलग रहा। जसबीर सिंह अपने भाइयों में से सबसे छोटा है। उसके पिता निर्मल सिंह ने उसे बेदखल भी किया हुआ था। हालांकि अब वह गांव में ही रह रहा था।

पत्नी ने दी पुलिस को शिकायत

थाना लाडवा प्रभारी ओमप्रकाश ने बताया कि जसबीर सिंह की पत्नी हरजिंदर कौर की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित जसबीर के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *