किसान

Farmer committed suicide due to crop damage by animals and financial crisis in Uttar Pradesh

मैनपुरी के थाना औंछा क्षेत्र के ग्राम नगला पीपल में त्योहार पर किसान ने की आत्महत्या, कारण जानकर दंग रह गए सभी

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी के थाना औंछा क्षेत्र के ग्राम नगला पीपल में एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। त्योहार पर परिवार में मातम पसर गया। किसान की मौत के बाद परिवार का बुरा हाल है।

मैनपुरी जनपद के थाना औंछा क्षेत्र के ग्राम नगला पीपल निवासी साधू उर्फ विशवार सिंह पुत्र छोटेलाल किसानी करते थे। उन्होंने गांव के लोगों से उगाई पर 12 बीघा खेत लिया था।

इस खेत के लिए उन्होंने अपनी भैंस, बकरी और अन्य जानवर बेच दिए थे। परिवार के भरण पोषण के लिए उन्होंने खेत में जीतोड़ मेहनत कर धान की फसल उगाई।

बताया गया है कि आवारा जानवरों ने उसकी फसल को नुकसान पहुंचा दिया और जब धान की फसल की बिक्री हुई तो लागत के आधे दामों में बिक्री होने से सदमे में आ गए। उनके ऊपर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी।

जिसमें बड़ी बेटी नीतू की शादी में लिया कर्ज और घर पर एक लड़का व तीन लड़कियों की परवरिश का खर्चा। अनूप उम्र, सीता, सीतू, शालनी के खर्चो के बाद उसकी पत्नी सुनीता बीमार चल रही थी।

उसके इलाज के खर्चों की जिम्मेदारी थी। मगर आवारा जानवरों और फसल के सही दाम न मिलने से निराश किसान ने गुरुवार की शाम घर में रखी कीटनाशक दवा का सेवन कर लिया। हालत गम्भीर होने पर परिवारीजन सैफई ले गए जहां उनकी मृत्यु हो गयी। परिवार के मुखिया की मौत के बाद परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *