सांसद धर्मेंद्र यादव

Double capacity trunet machine will be installed in Medical College Badaun

धर्मेंद्र यादव द्वारा बनाये गये बदायूं की लाइफ लाइन राजकीय मेडिकल कॉलेज में दोगुनी क्षमता की लगेगी ट्रू-नेट मशीन

बदायूं शहर से करीब छह किमी दूर बरेली-मथुरा राजमार्ग पर गिनौरा वाजिदपुर में राजकीय मेडिकल कॉलेज को बदायूं की लाइफ लाइन माना गया है। बदायूं जिले में जल्द ही राजकीय मेडिकल कॉलेज में ट्रूनेट जांच मशीन लगेगी। यहां लगने वाली मशीन जिला अस्पताल में लगी मशीन से दुगुनी क्षमता की होगी। इससे अधिक कोरोना मरीजों की जांच हो सके। यहां लगने वाली मशीन से पॉजिटिव रिपोर्ट की पुष्टि भी की जा सकेगी।

कोरोना काल में मेडिकल कॉलेज को कोविड एल-टू अस्पताल बनाया गया है। यहां कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है, जिसके लिए यहां की पढ़ाई स्थगित है। हालांकि एमबीबीएस की कक्षाएं 13 जुलाई से शुरू करने के निर्देश शासन से मिले हैं। यहां पर हजारों की संख्या में मरीज आते हैं, इसलिए अब यहां जिला अस्पताल के मुकाबले दोगुनी क्षमता की ट्रू-नेट मशीन लगाने की मंजूरी मिल चुकी है। जिला अस्पताल में एक दिन में 21 मरीजों की जांच होती है, जबकि यहां लगने वाली मशीन से 42 लोगों की जांच हो सकेगी। मेडिकल कॉलेज में लग रही मशीन के साथ पुष्ट करने का भी सिस्टम लगा रहेगा। कुछ देर में ही उसकी पुष्टि कर मरीजों का उपचार और आपरेशन भी किया जा सकेगा।

मेडिकल कॉलेज में ट्रू-नेट मशीन लगाने की मंजूरी मिल चुकी है। शासन स्तर से अगले सप्ताह तक मशीन आने की संभावना है। इससे मरीजों की जांच में आसानी होगी। – डॉ.आरपी सिंह, प्राचार्य राजकीय मेडिकल कॉलेज

बदायूं-मथुरा रोड पर गुनौरा वाजिदपुर गांव के पास 20 दिसंबर 2013 को तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राजकीय मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया था। मेडिकल कॉलेज के भवन निर्माण को 543 और चिकित्सा उपकरणों की खरीद को 20 करोड़ रुपये बजट तय किया गया था। 2014 में मेडिकल कॉलेज का निर्माण शुरू होने के साथ सरकार ने बजट जारी करना शुरू कर दिया था।

समाजवादी पार्टी सरकार में पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव ने विशेष आग्रह पर तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राजकीय मेडिकल कॉलेज की मंजूरी दी थी। जब तक सरकार रही तेजी से काम कराया गया और ओपीडी चालू भी करा दी गई।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *