माननीय मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

CM Akhilesh Yadav writes to Union Rail Minister, seeks early completion of remaining work on Rail over bridges (RoBs)

task-photo-cba8a288-d097-491c-9161-46eab64ff646

मुख्यमंत्री का रेल मंत्री से विभिन्न रेल उपरिगामी सेतुओं के निर्माण में रेलवे भाग के अवशेष कार्यों को शीघ्र पूर्ण करवाने का अनुरोध

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने केन्द्रीय रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु को पत्र लिखकर राज्य के कतिपय स्थानों पर उत्तर रेलवे, उत्तर-मध्य रेलवे तथा उत्तर-पूर्व रेलवे के अन्तर्गत निर्मित किए जा रहे रेल उपरिगामी सेतुओं के निर्माण में रेलवे भाग (मुख्य सेतु) के अवशेष कार्यों को यथाशीघ्र पूर्ण करवाने का अनुरोध किया है, ताकि रेल उपरिगामी सेतुओं को निर्धारित लक्ष्य के अनुसार पूर्ण करते हुए जनोपयोगी बनाया जा सके।

इस सम्बन्ध में रेल मंत्री को प्रेषित अपने एक पत्र में मुख्यमंत्री ने रेल उपरिगामी सेतुओं के निर्माण के सम्बन्ध में अपने 11 मई, 2015 के पत्र का हवाला देते हुए लिखा है कि वित्तीय वर्ष 2015-16 में पूर्ण किए जाने हेतु लक्षित अति महत्वपूर्ण रेल उपरिगामी सेतु परियोजनाओं के तहत रेलवे भाग (मुख्य सेतु) के कार्य की प्रगति अत्यन्त धीमी है। कुछ कार्यस्थलों पर रेलवे द्वारा हाईटेन्शन लाइन शिफ्टिंग का कार्य अब तक पूरा नहीं किया गया है।

श्री यादव ने उल्लिखित किया है कि इस कारण उत्तर रेलवे के अन्तर्गत जनपद लखनऊ में दिलकुशा-बाराबंकी प्रखण्ड के कि0मी0 1090/27-1090/32 के मध्य रेल अधोगामी सेतु, जनपद बिजनौर में सम्पार संख्या 480-बी नजीबाबाद-रायपुर मार्ग व सम्पार संख्या 481-बी नजीबाबाद-जोगिरनपुरी-रायपुर मार्ग, जनपद हरदोई में सम्पार संख्या 280-बी हरदोई-पिहानी मार्ग, उत्तर मध्य रेलवे के तहत जनपद अलीगढ़ में सम्पार संख्या 115-सी टूण्डला-गाजियाबाद व सम्पार संख्या 119-बी गाजियाबाद-कानपुर रेल सेक्शन, जनपद इटावा में सम्पार संख्या 20 एवं 21 के मध्य कानपुर टूण्डला रेल खण्ड के कि0मी0 1137/11-13 व सम्पार संख्या-35 जसवन्तनगर-कचैरा घाट, जनपद हाथरस में सम्पार संख्या 100-सी गाजियाबाद-रेल सेक्शन के सासनी अकराबाद मार्ग तथा उत्तर मध्य रेलवे के तहत संत कबीर नगर में खलीलाबाद-गोरखपुर सेक्शन के तहत 178 स्पेशल/ए, रेल उपरिगामी सेतुओं को इस वित्तीय वर्ष में पूरा किया जाना सम्भव नहीं हो पा रहा है।

इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने रेल मंत्री से उत्तर मध्य रेलवे के तहत आगरा जनपद में यमुना एक्सप्रेस-वे एवं इनर रिंग रोड को जोड़ते हुए टूण्डला-आगरा कैण्ट के सेक्शन कि0मी0 1260/08-10 पर 8 लेन निर्माणाधीन आर0ओ0बी0 के लिए, रेलवे भूमि पर आर0ओ0बी0 के निर्माण हेतु अनापत्ति प्रमाण-पत्र निर्गत करने की अपेक्षा भी की है।

Uttar Pradesh Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav has written a letter to Union Railways Minister Mr. Suresh Prabhu seeking early completion of under-construction of railway overbridges at some places, of the Northern Railways, North-Central Railways and North-Eastern Railways so that they can benefit the people of the state.

In his letter, the Chief Minister has referred to his earlier letter dated May 11, 2015 in which he had pointed out that the progress of rail over bridges, under the railway section (main bridges) in the financial year 2015- 16 is very tardy and at some places the shifting of high-tension lines has not been completed yet. Mr. Yadav pointed out that because of this, the Dilkusha-Barabanki section’s between km 1090/27-1090/32 in Lucknow, railway crossing number 480-B Najeebabad-Raipur road and 481-B Najeebabad-Jogiranpuri-Raipur road in Bijnore district, railway crossing no 280-B Hardoi-Pihani route in Hardoi, railway crossing number 115-c Tundla-Ghaziabad and railway crossing number 119-B Ghaziabad-Kanpur rail section in Aligarh, in between railway crossing number 20 and 21 at Etawah rail section km 1137/11-13 and railway crossing no. 35 Jaswantnagar-Kachaura Ghat, railway crossing no. 100-C Ghaziabad rail section’s Sasni-Akrabad route in Hathras and 178 special/A under Khalilabad-Gorakhpur section in Sant Kabirnagar, ROB’s are not in a position to be completed in the current financial year.

Other than this, the Chief Minister has sought an early issuance of a NoC, for the under-construction 8-lane RoB on km 1260/08-10 on the Tundla-Agra Cantt section connecting inner ring road and the Yamuna Expressway, on the railway land.

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *