उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में भारतनेपाल मैत्री बस सेवा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए।

Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav flagged off the Varanasi-Kathmandu bus service from Varanasi

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में भारतनेपाल मैत्री बस सेवा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में भारतनेपाल मैत्री बस सेवा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए।

In a step aimed at boosting Buddhist and religious tourism, a direct AC bus service between Varanasi and Kathmandu was flagged off by Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav in Varanasi on Wednesday.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ करते हुए।

The Varanasi to Kathmandu service is called the “Bharat-Nepal Maitri Bus Seva” (India-Nepal Friendship Bus Service). Ten buses of the rural bus service dubbed as Lohia Gramin Bus Seva were also flagged off by the Chief Minister.

Addressing the function at the Police Lines in Varanasi, Mr. Yadav said the city will soon have a Metro rail. He said a detailed report (DPR) of the project would be prepared in the next six months and added that four cities will have the Metro rail.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।

Referring to the availability of power in Varanasi, the Chief Minister said uninterrupted electricity was being supplied to the ghats along the Ganga in the city. A similar arrangement of power supply will be made in Sarnath, he said.

वाईफाई से नाव नहीं, चलेगा लैपटाप: मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने बुधवार को एक तीर से दो-दो निशाने साधे। भारत-नेपाल मैत्री बस सेवा शुरू करने में सहयोग के लिए भारत सरकार, उत्तर प्रदेश सरकार के परिवहन विभाग का धन्यवाद दिया। पुलिस लाइन में मैत्री बस व लोहिया ग्रामीण बस सेवा की शुरुआत करते वक्त समाजवादी सरकार की तमाम योजनाओं का मुख्यमंत्री ने पिटारा खोला।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मेधावी छात्रछात्राओं को लैपटाॅप वितरित करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मेधावी छात्रछात्राओं को लैपटाॅप वितरित करते हुए।

सुना है, सब कुछ वाईफाई हो गया

मुख्यमंत्री बोले, सुना है कि वाराणसी में सबकुछ अब वाईफाई हो गया है। इतने में परिसर में मौजूद पार्टी कार्यकर्ता बोल उठे कि सब नहीं, कुछ घाट ही हुए हैं। यह बात सुनते ही मुख्यमंत्री ने कहा कि अरे भाई वाईफाई से कोई नाव थोड़े न चलेगी, इससे लैपटाप और कम्प्यूटर चलेंगे। सेवा और आसान हो जाएगी लेकिन सिर्फ 15 मिनट के वाईफाई का पैसा तत्काल आपके खजाने से कट जाएगा।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।

मेधावी छात्रों की तरक्की का हवाला

उन्होंने कहा कि इस तरह वाईफाई से लैपटाप रखने वालों को फायदा होगा। सपा सरकार ने मेधावी छात्र-छात्राओं को लैपटाप देने की शुरुआत की, विपक्षियों द्वारा विरोध हुआ। तरह-तरह की अफवाह फैलाई गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि लैपटाप बेचने तक का आरोप छात्रों पर लगा लेकिन मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि प्रदेश के किसी विद्यार्थी ने सरकार की ओर से मुफ्त में मिले लैपटाप को बेचा नहीं बल्कि उसके जरिए तरक्की में लगे हैं।

गांव-गांव तक पहुंची संचार क्रांति

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में भारतनेपाल मैत्री बस सेवा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 04 मार्च, 2015 को वाराणसी में भारतनेपाल मैत्री बस सेवा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए।

विज्ञान, तकनीकी मेडिकल के क्षेत्र में गरीब मेधावी छात्र-छात्राओं के जरिए समाजवादी सूचना की क्रांति लैपटाप से गांव-गांव तक पहुंच चुकी है। सूचनाएं अब कोई छिपा नहीं सकता। अफवाह से बचने के लिए सचेत रहना होगा।

वाराणसी-नेपाल मैत्री बस सेवा की पहली बस को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हरी झडी दिखाकर रवाना किया। पहले जत्थे में बीएचयू के चार छात्र, ईरान से आए विदेशी पर्यटक विदमशाहवे, एलहाम, रुखसाना, बहारेंन समेत स्थानीय निवासी अशोक, अनिल, पंकज, प्रियंका, रामकुमारी, रानी, रोशन आदि नेपाल यात्रा पर गए। काठमांडु से वापसी में गुरुवार को भारत सरकार के परिवहन संयुक्त सचिव नीरज वर्मा और नेपाल के अधिकारीगण हरी झंडी दिखाकर बस को बनारस के लिए रवाना करेंगे। इस विदेशी बस सेवा के परिचालन के लिए नेपाल में भारत दूतावास के सचिव पंकज सिंह ने समन्वय बनाया है। इसके बाद दोनों देशों के बीच बस सेवा आरंभ हो सकी है।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *