मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार विजेता को सम्मानित करते हुए। साथ में हैं, सांसद श्रीमती डिम्पल यादव।

Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav ensures prompt action in acid-attack cases

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार विजेता को सम्मानित करते हुए। साथ में हैं, सांसद श्रीमती डिम्पल यादव।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार विजेता को सम्मानित करते हुए। साथ में हैं, सांसद श्रीमती डिम्पल यादव।

Promising all possible help for victims of acid attacks, Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav on Sunday said his government would ensure prompt action in such cases.

“Our government is committed to provide all possible help to acid attack victims. We are ensuring strict and prompt action in such cases so that these incidents do not recur,” Yadav said.

Stating that incidents like acid attack were a blot on the society, Yadav said the Rani Lakshmi Bai fund had been created by the state government at Rs 100 crore to help such victims.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार विजेताओं के साथ।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार विजेताओं के साथ।

During the programme, Yadav felicitated 19 women/girls and 20 women village heads and claimed that the Samajwadi Party government was in favour of empowering women and highlighted a number of steps in this regard.

एसिड अटैक करने वालों का बहिष्कार करे समाजः मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि एसिड अटैक करने वालों पर सरकार सख्त कार्रवाई करेगी लेकिन समाज को भी ऐसा घृणित व अमानवीय कार्य करने वालों का बहिष्कार करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने उद्गार एसिड अटैक का शिकार 60 पीडि़तों को सहायता राशि के तौर पर तीन-तीन लाख रुपये के चेक देते हुए व्यक्त किए। मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर आयोजित कार्यक्रम में रानी लक्ष्मी बाई वीरता पुरस्कार से 40 महिलाओं को एक लाख का चेक व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इनमें 20 ग्राम प्रधान व आइपीएस अधिकारी अपर्णा कुमार शामिल थीं।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष के अंतर्गत एसिड अटैक पीडि़तों को सहायता राशि चेक प्रदान करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष के अंतर्गत एसिड अटैक पीडि़तों को सहायता राशि चेक प्रदान करते हुए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आबादी में 50 प्रतिशत हिस्सेदार महिलाओं की अनदेखी कर न तो सरकार चल सकती है और न ही समाज। उन्होंने कहा कि सपा सरकार महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान को लेकर सजग है और इस दिशा में कई कदम उठाए गए हैं। एसिड अटैक करने वालों के खिलाफ तो सरकार कार्रवाई करेगी ही लेकिन समाज को भी आगे आना होगा। समाज को महिलाओं के प्रति ऐसा अमानवीय कार्य करने वालों को अपने से दूर कर देना चाहिए। अधिकांश मामलों में एसिड अटैक करने वाले पीडि़ता के करीबी ही होते हैं। सभ्य समाज में इनके लिए कोई स्थान नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सहायता राशि देने के अलावा सरकार पीडि़तों का इलाज भी मुफ्त कराएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी को समझाना मुश्किल है लेकिन बहकाना आसान। कई ताकतें बहकाने में लगी हैं। कभी पुलिस भर्ती को लेकर तो कभी किसी और बात पर। लैपटाप को लेकर हल्ला कर दिया कि इसे पाने वाले छात्रों ने इसे बेच दिया। उन्होंने कहा कि बहकाने वाले व बांटने वालों से सावधान रहने की जरुरत है। मुख्यमंत्री ने लोहिया आवास व समाजवादी पेशन योजना को जनकल्याणकारी बताते हुए कहा कि शहर के लिए पांच सौ रुपये का महत्व न हो लेकिन गांव की गरीब महिला के लिए इसके मायने होते हैं।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष के वेब पोर्टल का शुभारम्भ करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को अपने सरकारी आवास पर रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष के वेब पोर्टल का शुभारम्भ करते हुए।

15-20 मिनट में पुलिस पहुंचे

मुख्यमंत्री ने कहा कि वह चाहते हैं कि किसी घटना के होने पर पुलिस 15-20 मिनट पर स्पाट पर पहुंच जाए। प्रोफेसर की रिपोर्ट में कहा गया है कि इसके लिए पुलिस में 22 हजार ड्राइवरों चाहिए। अब आगे इसकी व्यवस्था भी करनी होगी।

प्रधान पति काम नहीं करने देते

अखिलेश यादव ने महिला ग्राम प्रधानों के साथ आए उनके पतियों को भी सम्मानित किया लेकिन साथ ही यह कहना भी नहीं भूले कि प्रधानपति महिला प्रधान को बहुत कम काम करने देते हैं लेकिन उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए महिला प्रधान की वजह से ही वह मुख्यमंत्री आवास में सम्मानित किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार, महिला सम्मान कोष की वेबसाइट के शुभारम्भ के लिए आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 29 मार्च, 2015 को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार, महिला सम्मान कोष की वेबसाइट के शुभारम्भ के लिए आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए।

चीफ सेक्रेटरी ने दूर कर दिया

आइपीएस अधिकारी अपर्णा कुमार को सम्मानित कर मुख्यमंत्री ने कहा कि वह जहां भी रही उन्होंने अच्छा काम किया। फिर मुख्यमंत्री ने कहा कि आप अपने पति को साथ लेकर नहीं आईं। मुख्यमंत्री ने तत्काल इसकी वजह साफ करते हुए कहा कि इसमें आप की कोई गलती नहीं है। चीफ साहब ने आपके पति को बहुत दूर ट्रांसफर कर दिया है।

डिंपल को दिया श्रेय

मुख्यमंत्री ने कहा कि नाम लूंगा तो मीडिया वालों को भी मसाला मिल जाएगा लेकिन बताना तो पड़ेगा। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद अपनी सांसद पत्नी डिंपल यादव की ओर संकेत करते हुए कहा कि महिलाओं के सम्मान व सुरक्षा के लिए योजना तैयार करने में इनके सुझाव भी बहुत उपयोगी रहे। कार्यक्रम में बोलने वाले अन्य वक्ताओं ने भी डिंपल के योगदान को सराहा।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *