मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 11 फरवरी, 2016 को विधान भवन, लखनऊ स्थित अपने कार्यालय में वर्ष 2016-2017 के बजट को अन्तिम रूप देते हुए।

Chief Minister Akhilesh Yadav writes a letter to the Haryana Chief Minister Manohar Lal Khattar

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 11 फरवरी, 2016 को विधान भवन, लखनऊ स्थित अपने कार्यालय में वर्ष 2016-2017 के बजट को अन्तिम रूप देते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 11 फरवरी, 2016 को विधान भवन, लखनऊ स्थित अपने कार्यालय में वर्ष 2016-2017 के बजट को अन्तिम रूप देते हुए।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर को पत्र लिखा

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर को पत्र लिखकर दोनों राज्यों के बीच हस्ताक्षरित एम0ओ0यू0 के अनुसार जनपद बागपत व जनपद पानीपत के बीच यमुना नदी पर सेतु, पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य के सम्बन्ध में वैकल्पिक स्थल चयन के लिए हरियाणा के प्रशासकीय एवं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को अपने स्तर से आवश्यक निर्देश देने का अनुरोध किया है, जिससे सेतु का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारम्भ कराया जा सके।

मुख्यमंत्री ने पत्र में यह भी लिखा है कि यह सेतु दोनों राज्यों के लिए व्यापारिक एवं आवागमन की दृष्टि से अत्यन्त महत्वपूर्ण है। इस सम्बन्ध में दोनों राज्यों के अधिकारियों की समय-समय पर संयुक्त बैठकें आयोजित की गई हैं, किन्तु समुचित संरेखण पर सहमति नहीं बन पाई है।

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने इस सेतु के निर्माण के सम्बन्ध में 10 अगस्त, 2015 को एक पत्र श्री खट्टर को लिखा था, जिसके उत्तर में श्री खट्टर द्वारा मामले में परीक्षण कराए जाने के बारे में सूचना दी गई थी।

ज्ञातव्य है कि उत्तर प्रदेश के जनपद बागपत व हरियाणा के जनपद पानीपत को जोड़ने हेतु यमुना नदी पर सेतु निर्माण व दोनों ओर के पहुंच मार्गों के कार्य को सम्पादित कराने के सम्बन्ध में उ0प्र0 व हरियाणा के बीच 13 जून, 2014 को मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव एवं हरियाणा के तत्कालीन मुख्यमंत्री की उपस्थिति में एक एम0ओ0यू0 हस्ताक्षरित हुआ था।

मुख्यमंत्री ने उ0प्र0 तथा हरियाणा को जोड़ने वाले सेतु व पहुंच मार्ग एवं सुरक्षात्मक कार्य के सम्बन्ध में हरियाणा के मुख्यमंत्री से वैकल्पिक स्थल चयन करने का अनुरोध किया
यह सेतु दोनों राज्यों के लिए व्यापारिक एवं आवागमन की दृष्टि से अत्यन्त महत्वपूर्ण: मुख्यमंत्री

Chief Minister requests his Haryana counterpart to select an alternate place for the bridge linking the two states and link road and safety works

This bridge is very important for both states with regards to business and transport : Chief Minister

Uttar Pradesh Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav has written a letter to his Haryana counterpart Mr. Manohar Lal Khattar to select an alternate place, as per the MoU between the two states, for a bridge over the Yamuna River between Baghpat and Panipat districts, link road and for safety works.

This, Mr. Yadav pointed out, may be done by giving necessary directives to administrative and PWD officers of his state so that work on the bridge may be started at the earliest. The Chief Minister, in his letter, has also said that this bridge is very important with regards to business and transport between the two states.

He also pointed out that though joint meetings of concerning officers of both the states have been convened but they have not yielded desired results. Mr. Akhilesh Yadav had written a letter earlier on August 10, 2015 to Mr. Khattar, in response to which the latter had reverted that necessary study of the matter was being done.

It may be pointed out here that an MoU had been signed on June 13, 2014, between Mr. Akhilesh Yadav and the then Haryana Chief Minister, with regards to construction of a bridge over Yamuna river between Baghpat and Panipat and of link roads on both sides.

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *