आतंकियों से मुकाबले को अब यूपी में विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम - मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

Chief Minister Akhilesh Yadav will have special police operation team against terrorists in Uttar Pradesh

आतंकियों से मुकाबले को अब यूपी में विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम - मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव
आतंकियों से मुकाबले को अब यूपी में विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम – मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

आतंकियों से मुकाबले को अब यूपी में विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम – मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) की तर्ज पर अब विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम (स्पॉट) गठित होगी। एटीएस के भेजे गये प्रस्ताव को मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने हरी झंडी दे दी है। इसके गठन पर करीब 67 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम सशस्त्र खतरनाक अपराधियों की गिरफ्तारी, अपहरण से मुक्ति, आतंकवादी हमले का जवाब, काउंटर हाईजैक और एनएसजी के साथ समन्वय कर विशेष अभियान चलाएगी। राम जन्म भूमि परिसर में आतंकवादियों द्वारा किये गये सुनियोजित व सुसंगठित हमले, रामपुर में सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर पर आतंकी हमले और मुंबई में फियादीन हमले के दृष्टिगत आतंकी हमलों से निपटने के लिए राज्य सरकार को यह योजना बनानी पड़ी। अमौसी के पास 16 हेक्टेयर भूमि में इसका मुख्यालय बनाया जाएगा। इस भूमि पर एटीएस को कब्जा मिल गया है। इस टीम में पुलिस के चयनित पुलिसकर्मियों को स्पेशल टैक्टिस कोर्स कराया जाएगा। प्रशिक्षण के बाद इनकी नियुक्ति टीम में होगी।

डीआइजी को मिलेगा नेतृत्व : प्रस्ताव के मुताबिक, विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम का नेतृत्व डीआइजी स्तर के अधिकारी के पास रहेगा जबकि इसमें दो अपर पुलिस अधीक्षक, चार पुलिस उपाधीक्षक समेत कुल 692 पद प्रस्तावित किये गये हैं। इसमें 517 पदों का पुलिस विभाग में उपलब्ध विभिन्न पदों से समायोजन तथा शेष 175 पदों का सृजन होना है। इन 175 पदों पर वेतन के मद में नौ करोड़ 55 लाख रुपये का व्यय भार अनुमानित है।

तीन जोनल मुख्यालय पर रहेगी टीम : विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम लखनऊ, वाराणसी और मेरठ जोन मुख्यालय पर उपलब्ध रहेगी। इसके अलावा गोरखपुर, इलाहाबाद, बरेली, आगरा और कानपुर में स्वॉट टीम रहेगी जिसे कमांडो प्रशिक्षण केंद्र द्वारा प्रशिक्षित किया जाएगा। अभी तक उग्रवाद विरोधी विशेष प्रशिक्षण एनएसजी मानेसर, हरियाणा तथा आंध्र प्रदेश के ग्रेहाउण्ड पुलिस बल के साथ कराया जाता रहा है लेकिन अब लखनऊ में ही इन्हें प्रशिक्षण का मौका मिलेगा।

हर टीम में श्वान दल और बम डिस्पोजल दस्ता : स्पॉट के तीन ग्रुप गठित किए जाने हैं। एक ग्रुप के प्रभारी निरीक्षक होंगे और ग्रुप तीन टीमों में विभाजित होगी। हर टीम का प्रभार उपनिरीक्षक को मिलेगा और हर टीम में सपोर्ट के लिए एक श्वान दल और एक बम डिस्पोजल दस्ता होगा। टीम में उपनिरीक्षक के अलावा छह मुख्य आरक्षी व तीस आरक्षी होंगे। कुल 58 लोगों की एक टीम होगी। प्रशिक्षण केंद्र के अलावा प्रशासनिक दायित्वों हेतु जनशक्ति के लिए भी प्रस्ताव भेजा गया है।

मिलेगा जोखिम भत्ता : विशेष पुलिस ऑपरेशन टीम में शामिल होने वाले पुलिसकर्मियों को मूल वेतन एवं महंगाई भत्ते की 50 प्रतिशत धनराशि जोखिम भत्ते के रूप में मिलेगी। इस इकाई के फाइटर्स को सूचना प्राप्त होते ही मौके पर पहुंचना होगा इसलिए इन सबका आवास एक परिसर के अंदर होगा। इन्हें विभागीय कार्य के लिए हवाई यात्रा की भी सुविधा मिलेगी।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *