मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने हमसफ़र महिला सहायता केन्द्र व आषा ट्रस्ट द्वारा 07 महिला चालकों द्वारा चलाई जा रही आॅटो और ई-रिक्षा का शुभारम्भ किया

Chief Minister Akhilesh Yadav launches the auto and e-rickshaw services driven by 7 women drivers

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 15 फरवरी, 2016 को लखनऊ में महिला आॅटो एवं ईरिक्शा चालक को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 15 फरवरी, 2016 को लखनऊ में महिला आॅटो एवं ईरिक्शा चालक को प्रमाण पत्र प्रदान करते हुए।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि समाज आगे तभी बढ़ेगा, जब आधी आबादी को भी बराबर का हक और न्याय मिलेगा। समाजवादी हमेषा महिलाओं की बराबरी के पक्षधर रहे हैं। संविधान में महिलाओं को बराबरी का अधिकार मिला हुआ है। समाज में भी उन्हें यह हक मिलना चाहिए।

मुख्यमंत्री आज यहां हमसफ़र महिला सहायता केन्द्र व आषा ट्रस्ट द्वारा महिलाओं के लिए महिलाओं द्वारा ई-रिक्शा व आॅटो सेवा के शुभारम्भ अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। सेवा की शुरुआत सात महिला चालकों द्वारा की जा रही है। ये सभी महिला चालक गरीब पृष्ठभूमि और हिंसा से जूझने के बाद अपना नया जीवन शुरु कर रही हैं। श्री यादव ने हमसफ़र ट्रस्ट सहित इस कार्य में लगे सभी संगठनों को बधाई देते हुए कहा कि इन संगठनों ने महिलाओं को रास्ता दिखाया है और उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य और सम्मान के लिए काम किया है। सामान्यतः महिलाएं अपने दुःख और परेषानियां सामाजिक दबावों की वजह से जाहिर नहीं करतीं, जिससे उनका समाधान भी नहीं हो पाता है। इसलिए महिलाओं की समस्याओं के समाधान के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं और सरकार को मिलकर काम करना होगा।

हमसफ़र और आशा ट्रस्ट द्वारा प्रशिक्षित सात महिला ई-रिक्शा चालकों के हौसले की तारीफ करते हुए श्री यादव ने कहा कि पूरी दुनिया में आधी आबादी अपनी लगन, समर्पण और मेहनत के बल पर आगे बढ़ रही हैं। वे सभी क्षेत्रों में आगे आ रही हैं। सुश्री अरुणिमा सिन्हा के संघर्ष की मिसाल देते हुए उन्होंने कहा कि सुश्री सिन्हा ने अपने अदम्य साहस, उत्साह, संघर्ष और श्रम के बल पर माउण्ट एवरेस्ट पर विजय प्राप्त की है। श्री यादव ने इस मौके पर यह घोषणा भी की कि इन सात महिला ई-रिक्शा चालकों को राज्य सरकार द्वारा निःशुल्क ई-रिक्शा मुहैया कराया जाएगा। उन्होंने इन ई-रिक्शा चालकों को प्रमाण-पत्र भी प्रदान किया। इस अवसर पर महिला चालकों ने अपनी आप-बीती भी सुनाई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं की समस्याओं के समाधान के लिए लगातार काम कर रही है। इस काम को जमीनी स्तर पर उतारने में सभी के सहयोग की जरूरत है। समाजवादी सरकार द्वारा चलाई गई ‘1090’ विमेन पावर लाइन का लाभ अभी तक 3 लाख से भी ज्यादा महिलाओं ने सफलतापूर्वक उठाया है। ‘1090’ में दर्ज महिला की षिकायत का निपटारा जब तक पूरी तरह से नहीं हो जाता, तब तक मामले को बन्द नहीं किया जाता और मामले के समाधान में पूरी सावधानी और गोपनीयता भी बरती जाती है। ‘1090’ के माध्यम से समाजवादियों ने महिलाओं को अपनी समस्याओं को दर्ज कराने का एक उपयुक्त मंच दिया है।

श्री यादव ने कहा कि असली समाजवाद तभी आएगा, जब महिला भी आर्थिक रूप से सक्षम और सम्पन्न हो। आर्थिक रूप से सक्षम महिला के प्रति परिवार के सदस्यों का व्यवहार और भाषा भी अच्छी होती है। इसी को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने समाजवादी पेंषन योजना संचालित कर रही है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में इसके तहत 45 लाख गरीब परिवारों को लाभान्वित किया जा रहा है। आगामी वित्तीय वर्ष में 55 लाख गरीब परिवारों को इसका लाभ मिलेगा। इस योजना के तहत प्राथमिकता के आधार पर परिवार की महिला मुखिया को 500 रुपए प्रतिमाह की आर्थिक सहायता सीधे उसके बैंक खाते में उपलब्ध कराई जाती है। सम्पन्न व्यक्ति को यह राशि काफी छोटी लग सकती है, लेकिन गरीब परिवार के लिए यह काफी बड़ी राशि है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार विभिन्न जनपदों में आशा ज्योति केन्द्रों का निर्माण करा रही है। इन केन्द्रों में एक ही स्थान पर महिलाओं की सभी समस्याओं का समाधान करके उनकी मदद की जाएगी। राज्य सरकार ने 100 करोड़ रुपए की धनराशि से ‘रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान कोष’ का गठन किया है। किसी भी क्षेत्र में उपलब्धि हासिल करने वाली महिला का सम्मान करके उसकी उपलब्धि को स्वीकृति व पहचान दिलाने के लिए इस कोष की धनराशि का इस्तेमाल किया जाता है। आगामी 8 मार्च को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राज्य सरकार द्वारा इस कोष से ऐसी महिलाओं का सम्मान किया जाएगा।

इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चैधरी, प्रमुख सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल, प्रख्यात फिल्म निर्देशक श्री इम्तियाज अली सहित गणमान्य व्यक्ति और बड़ी संख्या में छात्राएं और महिलाएं उपस्थित थीं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 15 फरवरी, 2016 को हमसफ़र महिला सहायता केन्द्र व आषा ट्रस्ट द्वारा 7 महिला चालकों द्वारा चलाये जा रहे आॅटो और ईरिक्षा के शुभारम्भ अवसर पर।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 15 फरवरी, 2016 को हमसफ़र महिला सहायता केन्द्र व आषा ट्रस्ट द्वारा 7 महिला चालकों द्वारा चलाये जा रहे आॅटो और ईरिक्षा के शुभारम्भ अवसर पर।

Society can only progress when half its population is giving equal opportunities and justice : Chief Minister

Socialists have always been votaries of equality to women

Real socialism will only be ushered in when women will become financially strong and prosperous

In the forthcoming financial year, 55 lakh families will be benefitted by the Samajwadi Pension Scheme

Half population is marching ahead world over with its determination, dedication and hard work

State Government continuously working for solutions to problems of the women

Chief Minister Akhilesh Yadav launches the auto and e-rickshaw services driven by 7 women drivers, being conducted by ‘Hamsafar Mahila Sahayata Center’ and the Asha Trust

State Government will provide free-of-cost e-rickshaws to all the seven women drivers

Uttar Pradesh Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav has said that the society can only progress when half-the-population is given equal opportunities and justice. He added that socialists have always been votaries of equality to women and even the constitution has enshrined equal rights for the women folk. The society must also give them this right.

The Chief Minister was today speaking at the launch of the auto and erickshaw services being conducted by the ‘Hamsafar Mahila Sahayata Center’ and the Asha Trust. The service is being started by seven women drivers, who come from a modest background and are starting a fresh phase of their lives.

Congratulating the Humsafar Trust and all organizations involved in this noble work for they have shown these women a new way to life. Mr. Yadav pointed out how generally the women keep their pains to themselves owing to social stigma and that these organizations have shown them a way to live and also taken care of their education, health and honour.

Praising the grit and determination of the seven women drivers trained by the Humsafar and Asha Trust, the Chief Minister also highlighted how women across the world have marched ahead due to their dedication and hard work. Referring to the struggle of Ms Arunima Sinha, the Chief Minister told the gathering how due to her will power and determination, Ms Sinha had scaled the Mount Everest. On this occasion, he also announced that all these seven women drivers will be given e-rickshaws free-of-cost by the state government. He also provided the e-rickshaw drivers certificates. Women drivers also narrated their real life stories to the gathering.

The Chief Minister informed that the state government was relentlessly working to solve the problems being faced by the women and sought the support on the ground from all sections of the society. The ‘1090’ Women Power Line, he added, had benefitted over 3 lakh women who were facing harassment and now they are leading a hassle free life.

Mr. Yadav further added that real Socialism will only be ushered in when women folk will be financially strong and prosperous for which the government was running the Samajwadi Pension Scheme under which 45 lakh poor families were being benefitted in the current financial year and the number would be expanded to 55 lakh families in the next financial year.

Under this scheme, on priority basis, the women head of a family is provided Rs 500 per month and the money goes directly into her bank account. The Chief Minister also informed that the state government was establishing ‘Aasha Jyoti Kendra’s’ in various districts and the state has constituted Rs 100 crores for the ‘Rani Laxmibai Mahila Samman’ Fund under which women achieving some special place in different fields are recognized and honoured.

Such women would be honoured by this fund on March 8 on occasion of the International Women’s Day. Also present on the occasion were political pension minister Mr. Rajendra Chowdhary, principal secretary (Information) Mr. Navneet Sehgal, eminent film director Mr. Imtiaz Ali, other dignitaries and a large number of women and students.

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

2 Replies to “Chief Minister Akhilesh Yadav launches the auto and e-rickshaw services driven by 7 women drivers”

  1. Dear sir
    Deoband seat pe karyakartao ne mehnat nhi ki jiski vjha se chunav har gaye jeeta hua chunav hare hai
    Neta lg gye ek dusre ki kami niklane mai ab
    Vikas rana
    Deoband
    7830461204

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *