मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने ग्रामीण क्षेत्रों में 47,900 नये इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्प स्थापित करने के निर्देश दिए

Chief Minister Akhilesh Yadav directed to the setting 47,900 new India Mark – 2 hand pumps in rural areas

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने ग्रामीण क्षेत्रों में 47,900 नये इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्प स्थापित करने के निर्देश दिए
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने ग्रामीण क्षेत्रों में 47,900 नये इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्प स्थापित करने के निर्देश दिए

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने ग्रामीण क्षेत्रों में 47,900 नये इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्प स्थापित करने के निर्देश दिए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने पेयजल की समस्या के त्वरित निराकरण हेतु प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में 47,900 नये इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्प स्थापित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने पहले से स्थापित इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्पों को चालू हालत में लाने के लिए 47,900 हैण्डपम्पों की री-बोरिंग के आदेश भी दिए हैं। ये सभी 95 हजार 800 नये एवं रीबोर हैण्डपम्प विधान सभा एवं विधान परिषद के सदस्यों की संस्तुति पर उनके ग्रामीण निर्वाचन क्षेत्रों में स्थापित किए जाएंगे। इसके लिए प्रत्येक सदस्य को 100 नये इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्प स्थापित करने हेतु संस्तुति करने का अधिकार दिया गया है, जबकि इतने ही हैण्डपम्पों के रीबोर के लिए भी प्रत्येक सदस्य संस्तुति कर सकते हैं। यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश के अनुपालन के क्रम में शासन द्वारा 458.8632 करोड़ रुपए की धनराशि ग्राम्य विकास आयुक्त को उपलब्ध करा दी गई है। उन्होंने बताया कि हैण्डपम्पों की स्थापना एवं रीबोरिंग राज्य ग्रामीण पेयजल योजना के मार्गदर्शी सिद्धान्तों एवं शासनादेशों में दी गई व्यवस्था के अनुरूप की जाएगी। स्वीकृत धनराशि के सापेक्ष हैण्डपम्पों के अधिष्ठापन हेतु निर्धारित 90ः10 के अनुपात के अनुसार कार्यदायी संस्थाओं-उत्तर प्रदेश जल निगम एवं यू0पी0 एग्रो इण्डस्ट्रियल काॅरपोरेशन को धनराशि अवमुक्त की जाएगी। हैण्डपम्पों के अधिष्ठापन एवं रीबोरिंग के लिए नियमानुसार एक प्रतिशत लेबर सेस की धनराशि का भुगतान श्रम विभाग को करने के लिए कहा गया है। ग्राम्य विकास विभाग को यह भी हिदायत दी गई है कि स्वीकृत धनराशि आहरित कर बैंक एवं डाकघर में कतई नहीं रखी जाएगी। कार्य में प्रयोग की जाने वाली सामग्री/उपकरणों का क्रय स्टोर परचेज़ नियमों तथा आदेशों के अंतर्गत किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने निर्धारित विशिष्टियों तथा मानकों के अनुरूप गुणवत्ता नियंत्रण सुनिश्चित करते हुए कार्य को समयबद्ध ढंग से पूरा करने के निर्देश दिए हैं। कार्य की गुणवत्ता पर निगाह रखने के लिए अधिकृत थर्ड पार्टी निरीक्षणकर्ता को भी पूरा सहयोग प्रदान करने के लिए कहा गया है। हैण्डपम्पों के अधिष्ठापन के पश्चात् इनके रख-रखाव हेतु इन्हें सम्बन्धित ग्राम पंचायतों को हस्तांतरित करने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री की इस पहल से विधान सभा एवं विधान परिषद के सदस्यों को अपने-अपने क्षेत्रों की पेयजल समस्याओं के निराकरण में मदद मिलेगी।

Chief Minister Akhilesh Yadav issues instructions to install 47,900 new India Mark-2 hand pumps

Orders also issued for re-boring of 47,900 India Mark-2 hand pumps

MLC’s and MLA’s to have authority to recommend 100-100 new India Mark-2 hand pumps and reboring of 100-100 hand pumps

Rs. 458.8632 crore made available to the Rural Development Commissioner

For immediate solution to the water woes, Uttar Pradesh Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav has ordered installation of 47,900 new India Mark-2 hand pumps and for reboring and repair of 47,900 hand pumps already in existence.

All these 95,800 new and rebored hand pumps will be installed on recommendations of MLA’s and MLC’s in their rural constituencies. For this, MLC’s and MLA’s have been given the authority to recommend 100-100 new India Mark 2 hand pumps and reboring go 100-100 hand pumps each.

Providing this information, a state government spokesman today said that in compliance of instructions of the Chief Minister an amount of Rs 458.8632 crores has been made available to the Rural Development Commissioner. He also said that the hand pumps would be installed and rebored as per the guidelines of the State Rural Drinking Water Scheme and the relevant government orders.

For installation of the hand pumps, the funds will be released in the ratio of 90 : 10 between the executing agencies – Uttar Pradesh Jal Nigam and the UP Agro Industrial Corporation. The Labour department has been asked to make payments of 1% labour cess as per rules for installation and reboring of the hand pumps.

The Rural Development department has also been directed that the sanctioned funds should not be deposited in a bank or post office. Also, the material and equipment is to be purchased as per norms of the store purchase and orders. The Chief Minister has also asked officials to ensure that the work is completed with quality standards as per specifications in set timelines.

Instructions have also been issued to extend all possible cooperation to third-party inspectors and to transfer maintenance after installation of hand pumps to concerned Gram Panchayats. The spokesman also pointed out that this initiative of the Chief Minister will help the legislators to take care of the drinking water woes in their respective constituencies.

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *