मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को जनेश्वर मिश्र पार्क में गांधी जयंती पर आयोजित साइकिल रेस की एक खिलाड़ी को साइकिल प्रदान करते हुए।

Chief Minister Akhilesh Yadav dared the Centre Government to ban beef export

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को जनेश्वर मिश्र पार्क में गांधी जयंती पर आयोजित साइकिल रेस की एक खिलाड़ी को साइकिल प्रदान करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को जनेश्वर मिश्र पार्क में गांधी जयंती पर आयोजित साइकिल रेस की एक खिलाड़ी को साइकिल प्रदान करते हुए।

सोनाली व आलम साइकिल रेस में अव्वल

जनरेश्र्वर मिश्र पार्क में गांधी जयंती पर आयोजित साइकिल रेस में (बालिका वर्ग) में सोनाली सिंह प्रथम और दीपाली सिंह द्वितीय रहीं। दिव्या सिंह ने तीसरा स्थान हासिल किया। बालक वर्ग में आलम खान प्रथम और रवि यादव द्वितीय रहे जबकि अमन देव तीसरे स्थान पर रहे। मुख्यमंत्री ने प्रथम आये दोनों वर्गो के प्रतिभागियों को 21 हजार, द्वितीय स्थान पाने वालों को 11 हजार और तृतीय स्थान पाने वालों को पांच हजार एक सौ रुपये का पुरस्कार दिया।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव शुक्रवार को गांधी जयन्ती पर जनपद आगरा में आयोजित ‘एक सुर एक ताल’ कार्यक्रम के अवसर पर पुरस्कृत जिम्नास्टिकों के साथ।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव शुक्रवार को गांधी जयन्ती पर जनपद आगरा में आयोजित ‘एक सुर एक ताल’ कार्यक्रम के अवसर पर पुरस्कृत जिम्नास्टिकों के साथ।

Targeting Prime Minister Narendra Modi, Uttar Pradesh Chief Minister Akhilesh Yadav today said those who spoke against “pink revolution” should ban beef exports as they were now in power and alleged that they wanted to disturb the “secular” ethos of the country by raising such issues.

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को जनेश्वर मिश्र पार्क में गांधी जयंती पर आयोजित साइकिल रेस में बालिका को पुरस्कृत करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को जनेश्वर मिश्र पार्क में गांधी जयंती पर आयोजित साइकिल रेस में बालिका को पुरस्कृत करते हुए।

अतिथि संपादक की भूमिका में मुख्यमंत्री ने खबर तंत्र को समझा

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खबरों के संसार को समझने के लिए आज दैनिक जागरण दफ्तर पहुंचे। अतिथि संपादक के तौर पर दैनिक जागरण, उर्दू दैनिक इंकलाब और आइनेक्स्ट के दफ्तरों के सभी सेक्शन में घूम-घूमकर उन्होंने अखबार निकालने की बारीकियां समझीं तो मौजूदा वक्त में सुर्खियों में छाये मुद्दों पर बेलौस अंदाज में अपना नजरिया भी जाहिर किया।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को के0डी0 सिंह बाबू स्टेडियम, में महिला फुटबाॅल टूर्नामेण्ट के शुभारम्भ अवसर पर ।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को के0डी0 सिंह बाबू स्टेडियम, में महिला फुटबाॅल टूर्नामेण्ट के शुभारम्भ अवसर पर ।

शाम पौने छह बजे जागरण दफ्तर में अपनी सरकारी गाड़ी से उतरते ही अगवानी के लिए जमा अखबारनवीसों का उन्होंने अपने चिरपरिचित अंदाज में अभिवादन किया। फिर राज्य संपादक दिली अवस्थी के साथ अखबार की हर डेस्क पर जाकर उन्होंने पत्रकारों से गर्मजोशी से हाथ मिलाया। लोकल डेस्क पर जाकर उन्होंने पूछा कि कहां से आ रही हैं खबरें। खबर लिख रहे एक रिपोर्टर से जानना चाहा कि वह खबरें कैसे फाइल करते हैं। डाक डेस्क का परिचय उनसे यह कहते हुए कराया गया कि यहां लखनऊ प्रकाशन केंद्र से जुड़े जिलों की खबरें देखी जाती हैं। इस पर समाजवादी सरकार के मुखिया ने यह कहते हुए चुटकी ली कि अब हम मेट्रो से किसानों के बीच आ गए हैं। कार्टूनिस्ट के कंप्यूटर पर अपना कार्टून देखकर मुदित हुए, चुटकी भी ली कि आप लोग हमारी नाक कुछ ज्यादा लंबी कर देते हो।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 लखनऊ में खिलाड़ी को ए0पी0एन0 शक्ति सम्मान2015 से सम्मानित करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 लखनऊ में खिलाड़ी को ए0पी0एन0 शक्ति सम्मान2015 से सम्मानित करते हुए।

जब देखो हमें लाल टोपी पहनाकर साइकिल पर बैठा देते हो पर कार्टूनिस्ट और ग्राफिक डिजाइनर की डेस्क से विदा लेते समय उन्हें यह ताकीद करने से नहीं चूके कि हमारे सारे कार्टून हमें जरूर भेज दीजिएगा। फोटोग्राफरों की मंशा भांप कर उन्हें अपने साथ फोटो खिंचवाने का यह कहते हुए न्योता दिया कि आप रोज हमारी फोटो खींचते हैं, आज हम आपके साथ फोटो खिंचवाएंगे। ‘इंकिलाब’ के दफ्तर में उन्होंने उर्दू अखबारनवीसों से उनके काम करने के तौर-तरीकों के बारे में पूछा। फिर सीढिय़ां चढ़कर दूसरी मंजिल पर आइनेक्स्ट के दफ्तर पहुंचे। आइनेक्स्ट के एक युवा पत्रकार ने जब उन्हें अखबार थमाते हुए उसे ‘यूथ का न्यूजपेपर’ बताया तो पहले पेज पर अपने मंत्रिमंडल के बुजुर्ग सहयोगी अहमद हसन की फोटो देखकर उन्होंने तपाक से टिप्पणी की ‘लेकिन इनकी उम्र तो हमसे दोगुनी है।’ आइनेक्स्ट की संपादक शर्मिष्ठा शर्मा से उन्होंने अखबार की प्रसार संख्या और उसके डिजिटल संस्करणों व उनकी पाठक संख्या को लेकर अपनी जिज्ञासाएं व्यक्त कीं।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को के0डी0 सिंह बाबू स्टेडियम, लखनऊ में ‘वेदान्त के विभिन्न सिद्धान्त’ पुस्तक का विमोचन करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को के0डी0 सिंह बाबू स्टेडियम, लखनऊ में ‘वेदान्त के विभिन्न सिद्धान्त’ पुस्तक का विमोचन करते हुए।

फिर दैनिक जागरण के विज्ञापन से जुड़े सेक्शन की ओर रुख करते हुए पूछा कि यहां क्या होता है। जब उन्हें बताया गया कि यह विज्ञापन का प्रभाग है तो अर्थपूर्ण मुस्कुराहट के साथ वह बोले ‘अच्छा! तो यहां ‘माल’ आता है।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को ए0पी0एन0 शक्ति सम्मान2015 एवं महिला फुटबाॅल टूर्नामेण्ट के शुभारम्भ अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 02 अक्टूबर, 2015 को ए0पी0एन0 शक्ति सम्मान2015 एवं महिला फुटबाॅल टूर्नामेण्ट के शुभारम्भ अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए।

विज्ञापन सेक्शन में कार्यरत एक कर्मचारी राजेंद्र पंडित का परिचय जब यह कहते हुए कराया गया कि यह अवधी के अच्छे कवि हैं तो मुख्यमंत्री ने उनसे फौरन पूछ लिया ‘आप सैफई महोत्सव में कभी नहीं आये।’ डेढ़ घंटे दैनिक जागरण कार्यालय में बिताने के बाद चलते वक्त मुस्कुराते हुए सुर्रा छोड़ा, ‘यह सब समझ इसलिए रहा हूं, क्या पता कब मुझे अखबार निकालना पड़ जाए।’

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

लेकिन ये सादगी देखिए –

संपादक ने कुर्सी खाली करी तो मना कर दूसरी पर बैठ गए मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

One Reply to “Chief Minister Akhilesh Yadav dared the Centre Government to ban beef export”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *