उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 30 सितम्बर, 2015 को अपने सरकारी आवास पर थारू दल की एक बालिका को किट एवं जैकेट प्रदान करते हुए।

Chief Minister Akhilesh Yadav bats for Tharu tribal community members

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 30 सितम्बर, 2015 को अपने सरकारी आवास पर थारू दल की एक बालिका को किट एवं जैकेट प्रदान करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 30 सितम्बर, 2015 को अपने सरकारी आवास पर थारू दल की एक बालिका को किट एवं जैकेट प्रदान करते हुए।

थारुओं के सपनों को हकीकत बनाएगी उत्तर प्रदेश सरकार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि थारू जनजाति को मुख्यधारा में लाने के लिए विकास योजनाओं का ‘क्लस्टर’ बनेगा, ताकि विकास का उनका सपना हकीकत में तब्दील हो सके। कहा कि इस जनजाति के विकास के लिए बजट में धन का इंतजाम किया जायेगा।

मुख्यमंत्री बुधवार को अपने सरकारी आवास पर थारू जनजाति की 40 लड़कियों को शैक्षणिक भ्रमण पर ओरछा रवाना करने से पहले संबोधित कर रहे थे। यादव ने कहा कि विकास इस दौर में भी थारू जनजाति की स्थिति में विशेष बदलाव नहीं आया है। वे आज भी जंगल में है, जंगल बचाये रखने में उनका महत्वपूर्ण योगदान भी है। मगर कतिपय वन कानूनों के चलते थारू जनजातीय क्षेत्र में बिजली, टेलीफोन नहीं लग पा रहे हैं। घर बनाने में भी दिक्कत है। अब जंगल के करीब विशेष क्लस्टर बनाकर उनका विकास किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली हाट से भी बड़ा उत्तर प्रदेश हाट लखनऊ में बन रहा है। 25 एकड़ में बन रहे इस हाट में हस्तशिल्पी अपने उत्पादों का प्रदर्शन एवं विक्रय कर सकेंगे। थारू महिलाओं के लिए भी स्थान उपलब्ध कराया जायेगा। यादव ने ओरछा के इतिहास में ‘रामलला’ यानी भगवान राम, रानी लक्ष्मी बाई और औरगंजेब के जुड़ाव का जिक्र करते हुए कहा कि यहां के भ्रमण से सीखने को बहुत मिलेगा। उद्यमिता कौशल और अधिक निखरेगा। ये महिलाएं स्वावलंबी बनकर अपने पूरे समुदाय के आर्थिक विकास की वाहक बनेंगी। मुख्यमंत्री ने अध्ययन दल के सदस्यों को यात्रा किट एवं जैकेट भेंट कीं। इस अवसर पर थारू महिलाओं ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एवं कन्नौज की सांसद डिंपल यादव को स्मृति चिन्ह दिये। इससे पूर्व थारू बालिकाओं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। लखीमपुर की डीएम किंजल सिंह ने थारू जनजाति के विकास के प्रयासों पर प्रस्तुतीकरण दिया। मुख्यमंत्री ने अध्ययन दल की बस को झंडी दिखाकर रवाना किया। लोक निर्माण मंत्री शिवपाल यादव, राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, ग्राम्य विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अरविंद सिंह गोप, ब्रज फाउंडेशन के विनीत नारायण, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 30 सितम्बर, 2015 को थारू बालिकाओंमहिलाओं के अध्ययन दल की बस को झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 30 सितम्बर, 2015 को थारू बालिकाओंमहिलाओं के अध्ययन दल की बस को झण्डी दिखाकर रवाना करते हुए।

पति-पत्नी साथ रहें तो अच्छा काम

थारू जनजाति के विकास के लिए बहराइच व लखीमपुर प्रशासन के कार्यों को सराहते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पति-पत्नी आसपास तैनात रहें तो काफी अच्छा काम होता है। उनका इशारा लखीमपुर की डीएम किंजल सिंह व उनके पति अभय की ओर था। अभय बहराइच के डीएम है। जोड़ा कि नियम है और उनका प्रयास भी पति-पत्नी आसपास के जिलों में तैनात हों।

सुलभ इंटरनेशनल देगी आर्थिक मदद

शुलभ इंटरनेशनल के निदेशक बिन्देश्वरी पाठक ने अध्ययन दौरे पर जा रही 40 लड़कियों को दस-दस हजार रुपये प्रतिमाह की आर्थिक मदद का एलान किया। उन्होने कहा कि वह इस जनजाति के लोगों के विकास में पूरा सहयोग करेंगे।

व्यावहारिक प्रशिक्षण भी लेंगी लड़कियां

ओरछा भ्रमण के दौरान इन लड़कियों को तारा निर्माण केंद्र, तारा हैंडमेड पेपर रिसाइकिलिंग, तारा लाइवली हुड एकेडमी, देसी पावर, जय तारा वाटर फिल्टर, महिला साक्षरता, रेडियो बुंदेलखंड, चेक डैम का भ्रमण कराया जायेगा। इन लड़कियों को व्यावहारिक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *