मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान अधिकारियों के सम्मेलन के दौरान गृृह विभाग की वेबसाइट को रीलाॅन्च करते हुए।

Chief Minister Akhilesh Yadav addresses a conference of senior Police officials

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान अधिकारियों के सम्मेलन के दौरान गृृह विभाग की वेबसाइट को रीलाॅन्च करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान अधिकारियों के सम्मेलन के दौरान गृृह विभाग की वेबसाइट को रीलाॅन्च करते हुए।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेष यादव ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन को सम्बोधित किया

उत्तर प्रदेष के मुख्यमंत्री श्री अखिलेष यादव ने कहा है कि अच्छी और प्रभावी कानून-व्यवस्था राज्य सरकार की प्राथमिकता है और इस पर किसी भी प्रकार का समझौता नहीं किया जाएगा। गरीबों और गांवों में रहने वाले लोगों की समस्याओं का तेजी से समाधान आवष्यक है, क्योंकि वे बड़ी आषा से पुलिस के पास अपनी समस्याएं लेकर जाते हैं, कि उन्हें न्याय मिलेगा।

मुख्यमंत्री आज यहां ‘पुलिस सप्ताह-2016’ के दौरान विधान सभा स्थित तिलक हाॅल में आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेश पुलिस के समस्त अराजपत्रित कर्मियों (निरीक्षक, उप निरीक्षक, हेड काॅन्सटेबिल, काॅन्सटेबिल एवं समतुल्य पद तथा अन्य समस्त चतुर्थ श्रेणी कर्मियों) को देय वर्दी भत्ते में 25 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की। उन्होंने बैरक में रहने वाले पुलिस/पी0ए0सी0 कर्मियों को देय पारिवारिक आवासीय भत्ते (फैमली एकोमोडेशन एलाउन्स) में 25 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा भी की। उन्होंने गृृह विभाग की नवीनीकृत तथा अपडेटेड वेबसाइट ूूूण्नचीवउमण्हवअण्पद को भी रीलाॅन्च किया।

श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखना और अपराध नियंत्रण एक बहुत बड़ी चुनौती है। इस चुनौती का सामना पुलिस के साहस और कर्तव्य परायणता के माध्यम से किया जा सकता है। पुलिस कर्मियों को अपनी विश्वस्नीयता में भी सुधार लाना पड़ेगा। उन्होंने छवि को बदलने के लिए पुलिस कर्मियों को अपनी कार्यषैली में और सुधार की आवष्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि थाने पर आने वाले लोगों की एफ0आई0आर0 तुरन्त दर्ज की जाए, क्योंकि ऐसा न करने का खामियाजा सरकार को भुगतना पड़ता है और उसकी छवि खराब होती है।

श्री यादव ने हाल ही में शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हुए पंचायत चुनावों और विभिन्न त्यौहारों के दौरान अमन-चैन कायम रखने के लिए पुलिस को बधाई दी। उन्होंने आशा व्यक्त की कि कानून-व्यवस्था को और अधिक बेहतर बनाए रखने की दिशा में पुलिस आगे भी गम्भीर प्रयास करती रहेगी। उन्होंने स्नैपडील की कार्मिक तथा आगरा में अपहृत बच्चे को शीघ्र छुड़ाने, लखनऊ में व्यापारी की हत्या के केस का जल्द खुलासा करने पर पुलिस की सराहना भी की। उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों में तेजी से कदम उठाना पुलिस के बहुत काम आया और अपराधी पकड़े गए।

मुुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार पुलिस के आधुनिकीकरण के लिए लगातार कार्य कर रही है। माॅडर्न कंट्रोल रूमों की स्थापना की जा चुकी है। राजधानी लखनऊ में कैमरों के माध्यम से इलेक्ट्राॅनिक सर्विलांस भी की जा रही है। पिछले 04 साल के दौरान राज्य सरकार ने पुलिस बल को सुदृढ़ एवं सशक्त बनाने के उद्देश्य से मानव संसाधन, भवन, बैरक, वाहन तथा आधुनिक शस्त्र आदि उपलब्ध कराने के लिए विशेष कदम उठाए हैं। इसके चलते पुलिस की कार्य करने की परिस्थितियां बेहतर हुई हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस दिशा में अभी भी काम कर रही है।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 01 अप्रैल, 2016 को पुलिस महानिदेशक ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में प्रतीक चिन्ह भेंट करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 01 अप्रैल, 2016 को पुलिस महानिदेशक ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में प्रतीक चिन्ह भेंट करते हुए।

श्री यादव ने कहा कि पुलिस के मनोबल को बढ़ाने की दृष्टि से हर स्तर पर बड़े पैमाने पर पदोन्नतियां की गई हैं, जिसका लाभ सभी संवर्गाें को मिला है। पुलिस कर्मियों की कमी को पूरा करने के लिए बड़ी संख्या में भर्ती की जा रही है। अब तक 38 हजार आरक्षियों की भर्ती की जा चुकी है। इसके अलावा 3,784 उपनिरीक्षकों की भी भर्ती की जा चुकी है। यही नहीं 28 हजार आरक्षियों और 2 हजार से ऊपर उपनिरीक्षकों की भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस बल को अच्छी अवस्थापना सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं। ऐसे में अब पुलिस कर्मियों की जिम्मेदारी बनती है कि वे जनता के साथ अपना व्यवहार ठीक रखते हुए उनकी समस्याओं का प्रभावी निस्तारण करें।

डायल ‘100’ का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस सेवा के माध्यम से पुलिस के रिस्पांस टाइम को कम करने के लिए विभाग को तकनीकी रूप से सक्षम बनाया जा रहा है। इस सेवा को साकार करने के लिए दुनिया के विकसित देशों के अनुभव के आधार पर प्रदेश स्तरीय डायल ‘100’ प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई है। इस परियोजना के लिए आवश्यक भवन का शिलान्यास पिछले साल दिसम्बर में किया जा चुका है। यह सेन्टर शीघ्र ही प्रदेश के किसी भी कोने में रहने वाले नागरिक को बेहतरीन आपातकालीन सेवाएं प्रदान करने लगेगा। इस परियोजना के जरिए पूरे प्रदेश में तत्काल पुलिस सहायता पहुंचाने के लिए राज्य सरकार विभाग को संसाधन उपलब्ध करा रही है। इसके तहत 3200 चार पहिया और 1600 दो पहिया वाहनों की व्यवस्था की जा रही है। ये सभी वाहन अत्याधुनिक उपकरणों से लैस होंगे।

अपराधों की विवेचना एवं अनुसंधान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए आवश्यक फाॅरेंसिक लैबों की स्थापना हर रेंज में की जा रही है। साथ ही, प्रत्येक जिले को फाॅरेंसिक मोबाइल वैन उपलब्ध कराने की कार्रवाई भी की जा रही है। उन्होंने वीमेन पावर लाइन ‘1090’ का उल्लेख करते हुए कहा कि इस सेवा का भरपूर लाभ महिलाओं को मिला है। उन्होंने इस प्रोजेक्ट में कार्यरत सभी अधिकारियों और कर्मचारियों की प्रशंसा की।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने कहा कि वर्तमान सरकार प्रदेश की कानून-व्यवस्था को सुधारने की दिशा में लगातार प्रयास कर रही है। अच्छी कानून-व्यवस्था के बगैर प्रदेश का विकास सम्भव नहीं है। पुलिस विभाग ने कई अच्छे काम किए हैं और पिछले वर्षाें के दौरान साम्प्रदायिकता पर लगाम लगी है। उन्होंने पुलिस की कार्य प्रणाली में सुधार की आवश्यकता पर बल दिया और कहा कि आम आदमी की एफ0आई0आर0 तुरन्त दर्ज की जानी चाहिए, क्योंकि इसका सीधा सम्बन्ध जनता की निगाह में पुलिस की छवि से है। उन्होंने पैदल गश्त तथा बेसिक पेट्रोलिंग की आवश्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि असामाजिक एवं अवांछित तत्वों की लगातार निगरानी की जाए और उन्हें माहौल बिगाड़ने का कतई मौका न दिया जाए। जमीन विवाद से सम्बन्धित मसलों को भी गम्भीरता से लिए जाने पर उन्होंने बल दिया।

इस मौके पर प्रमुख सचिव गृह श्री देबाशीष पण्डा ने पुलिस विभाग के विभिन्न क्रिया-कलापों तथा आधुनिकीकरण पर केन्द्रित एक प्रस्तुतिकरण भी दिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश की कानून-व्यवस्था के प्रति अत्यन्त गम्भीर है। इसका अंदाजा सरकार द्वारा पुलिस के आधुनिकीकरण की दिशा में उठाए जा रहे बड़े कदमों से लगाया जा सकता है।

इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक श्री जावीद अहमद ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश का पुलिसतंत्र राज्य मंे अच्छी कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए लगातार कार्य कर रहा है। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा पुलिस के आधुनिकीकरण के लिए किए जा रहे प्रयासों के प्रति आभार जताते हुए कहा कि इससे पुलिस कर्मियों का मनोबल बढ़ा है। पुलिस सप्ताह के दौरान नगरीय पुलिस की चुनौतियों, सोशल मीडिया की चुनौतियों के साथ-साथ कानून-व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए विभिन्न जनपदों से आये वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से विस्तृत चर्चा की जाएगी। उन्होंने भरोसा दिलाया कि प्रदेश की पुलिस कानून-व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखेगी।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान अधिकारियों के सम्मेलन के दौरान
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान अधिकारियों के सम्मेलन के दौरान

इससे पूर्व, कार्यक्रम स्थल पहुंचने पर मुख्यमंत्री का स्वागत मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन, प्रमुख सचिव गृह श्री देबाशीष पण्डा तथा पुलिस महानिदेशक श्री जावीद अहमद ने बुके भंेट कर किया। मुख्यमंत्री को पुलिस विभाग की ओर से पुलिस महानिदेशक द्वारा एक स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया। कार्यक्रम के दौरान प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्रीमती अनीता सिंह, सचिव मुख्यमंत्री श्री पार्थ सारथी सेन शर्मा सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Good and Effective law and order a priority of the state government, no compromise on that : Chief Minister

FIR’s of people coming to police stations be lodged immediately

Maintaining law and order and crime control in a big state like Uttar Pradesh a daunting task

Police appreciated for safe release of Snapdeal employee and a child in Agra and for cracking the murder case of a Lucknow businessman

Chief Minister announces a 25% hike in uniform allowance of all non-gazetted police officials 25% increase in family accommodation allowance for policemen/PAC personnel living in barracks

Police being technically equipped to cut short response time through the Dial 100 service

Chief Minister relaunches the value-added and updated website www.uphome.gov.in of the Home department

Uttar Pradesh Chief Minister Mr. Akhilesh Yadav has said that maintaining law and order and effective crime control were top priorities of the state government and that there cannot be any compromise on them. Seeking prompt redressal of problems of the poor and the villagers, Mr Yadav pointed out that these were people who came, with hopes of justice, to the police.

The Chief Minister said so while addressing a conference of senior Police officials on occasion of the ‘Police Week-2016’ at the Tilak Hall in the Vidhan Sabha. On this occasion, he announced a 25% hike in the uniform allowance of all non-gazetted police officials (inspector, sub-inspector, head constable, constable and equivalent posts and all fourth class employees).

मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में स्वागत करते हुए।
मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में स्वागत करते हुए।

The Chief Minister also announced a hike of 25% family accommodation allowance payable to police/PAc personnel living in barracks. On this occasion, he also relaunched the new look and updated website of the Home department. Pointing out that maintaining law and order and checking crimes was a daunting task in a state as big as Uttar Pradesh, Mr. Yadav said this was possible with the bravery and dutifulness of the policemen.

He also asked officials to improve their image and to do this suggested enhancing their credibility. The Chief Minister also directed officials to ensure that FIR’s of people coming to police stations be lodged promptly, because it this is not done, the image of the government takes a toll. Mr. Yadav congratulated the police force for peaceful passage of the recently concluded Panchayat polls and for maintaining peace during festivals and expressed hope that in times to come, the police will further improve their functioning. He specifically mentioned the safe release of a Snapdeal employee and a child from Agra who had been kidnapped and cracking of the murder case of a Lucknow-based businessman.

The Chief Minister also informed that the state government was relentlessly working to modernize the police force under which a modern control room had been established and electronic surveillance was being done in the state capital by CCTV camera. In the past four years, with an eye to strengthen the police, special measures have been initiated with regards to human resources, buildings, barracks, vehicles and modern weapons.

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए।

Mr. Yadav stated that to boost the morale of the police, promotions had been initiated at all levels, which has benefitted all cadres. More recruitment, he added, was being done to fill in the vacancies and till now 38,000 constables and 3,784 sub-inspectors have been recruited. Not only this, process to recruit 28,000 constables and more than two thousand police subinspectors was underway and infrastructure was also being improved. Under such circumstances, it was imperative on policemen to behave well with the people and promptly redress their problems.

The Chief Minister also referred to the ‘Dial 100’ services, which he said was aimed at cutting down the response time and make the department technically advanced. Foundation of the building for the project has been laid last year in December and very soon the centre will be providing help to people in every corner of the state.

The state government, the Chief Minister informed, was procuring 3200 four-wheelers and 1600 two-wheelers, which would be equipped with modern equipments. Shedding light on the need of research and proper investigation of crimes, Mr. Yadav informed that forensic labs were being established in all ranges and mobile vans were also being rolled out. The Chief Minister also praised the team behind the 1090 women powerline and added that women of the state have benefited from the service.

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 01 अप्रैल, 2016 को ‘पुलिस सप्ताह2016’ के दौरान आयोजित वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए।

Addressing the police officials, Chief Secretary Mr. Alok Ranjan said the present state government was continuously working for improvement in law and order and underlined how without perfect law and order, development was not possible. Principal Secretary (Home) Mr. Debashish Panda made a presentation on various projects and modernization schemes for the police department.

On this occasion, Director General of police (DGP) Mr. Javeed Ahmed welcomed the Chief Minister and said that modernization and other efforts initiated by the state government had boosted the morale of the force.

Earlier, the Chief Secretary, Principal Secretary (home) and DGP Mr. Javeed Ahmed presented bouquets to the Chief Minister on his arrival at the venue. A memento was also presented to Mr. Yadav by the DGP. Also present during the function were Principal Secretary to the Chief Minister Mrs. Anita Singh, secretary Mr. Partha Sarthy Sen Sharma and other senior officials.

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *