मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने ‘जश्न-ए-क़ैफ़ी आज़मी’ समारोह को सम्बोधित किया

Chief Minister Akhilesh Yadav addressed in ‘Celebrate-A-Khafi Azmi’ function

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने ‘जश्न-ए-क़ैफ़ी आज़मी’ समारोह को सम्बोधित किया
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने ‘जश्न-ए-क़ैफ़ी आज़मी’ समारोह को सम्बोधित किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा कि कविता में रुचि रखने वाला हर व्यक्ति श्री क़ैफ़ी आज़मी को जानता है, क्योंकि उन्होंने मुम्बई की चमक-दमक देखने के बाद अपने गांव से जुड़कर ग्रासरूट स्तर पर काम किया। उन्होंने कहा कि क़ैफ़ी आज़मी ने गांव के विकास को अपना लक्ष्य बनाया और इसके लिए तहे दिल से काम किया। श्री क़ैफ़ी आज़मी के गांवांे के विकास के सपने को पूरा करने का कार्य राज्य सरकार पूरी शिद्दत से कर रही है। उन्होंने कहा कि श्री आज़मी ने महिला सशक्तीकरण के लिए काफी काम भी किया और अपने साहित्य से इसको बल भी दिया।

मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां गोमती नगर स्थित संगीत नाटक अकादमी के संत गाडगे सभागार में आॅल इण्डिया क़ैफ़ी आज़मी अकादमी के तत्वावधान में उनकी 97वीं जयन्ती के अवसर पर आयोजित क़ैफ़ी आज़मी अवार्ड समारोह ‘जश्न-ए-क़ैफ़ी आज़मी’ को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए।

श्री यादव ने कहा कि कै़फ़ी अकादमी द्वारा हिन्दी तथा उर्दू को बढ़ावा देने के लिए अच्छा कार्य हो रहा है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में सत्ता में आने पर उन्हें इस अकादमी के विषय में जानकारी मिली और यह भी पता लगा कि इसकी शुरुआत नेताजी श्री मुलायम सिंह यादव द्वारा कराई गई थी। वर्तमान सरकार ने इस अकादमी को जल्द से जल्द पूरा करने का बीड़ा उठाया। इसके विकास के लिए सरकार हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराएगी। उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह अकादमी शीघ्र पूर्ण हो जाएगी।
श्री यादव ने कहा कि मौजूदा सरकार साहित्य, कला, संस्कृति के संरक्षण, संवर्धन तथा इनसे जुड़े कलाकारों को प्रोत्साहन देने का काम कर रही है। कलाकारों को सम्मानित करने के लिए विभिन्न पुरस्कारों को फिर से पुनर्जीवित किया गया है, क्यांेकि पिछली सरकार द्वारा सारे सम्मान बन्द कर दिए गए थे और इस पूरे क्षेत्र की घोर अनदेखी की गई थी। राज्य सरकार हिन्दी, उर्दू व संस्कृत भाषाओं को बढ़ावा देने के लिए काम कर रही है। हिन्दी और उर्दू आपस में बहनें हैं, जो हमारी गंगा-जमुनी तहजीब को बनाए रखने के साथ-साथ समाज को जोड़ने का काम करती हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लखनऊ कला, संस्कृति और साहित्य का एक उत्कृष्ट केन्द्र पहले भी रहा है और अब ये और मजबूती के साथ इस क्षेत्र में उभर रहा है। यह शहर अब बहुत तेजी से बदल रहा है, क्योंकि यहां पर मेट्रो रेल के अलावा कई अन्य महत्वपूर्ण एवं बड़ी अवस्थापना सुविधाओं का विकास किया जा रहा है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे प्रदेश में विकास की नई इबारत लिखेगा। साथ ही, लखनऊ पर्यटन की दृष्टि से एक अति महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में भी सामने आएगा।

श्री यादव ने कहा कि किसी भी देश की प्रगति सिर्फ जी0डी0पी0 से नहीं आंकी जा सकती है। इसके लिए कला, संस्कृति तथा साहित्य के साथ-साथ भाषिक स्तर पर लोगों के एक-दूसरे से जुड़ने पर भी ध्यान देना होगा। साथ ही, सभी के उत्थान के लिए काम करना होगा, क्यांेकि इसके बगैर जी0डी0पी0 का कोई मतलब नहीं है।

प्रदेश की समाजवादी सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न विकास एवं जनहितकारी योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में समाज के सभी वर्गों का ध्यान रखा जा रहा है और गरीबों और पिछड़ों को अधिक से अधिक लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा 12वीं पास विद्यार्थियों को निःशुल्क लैपटाॅप बांटे गए हैं, जबकि आज लखनऊ में ही समाजवादी ई-रिक्शा योजना के तहत 300 लाभार्थियों को निःशुल्क ई-रिक्शे प्रदान किए गए हैं।

इसी प्रकार राज्य सरकार पर्यावरण संतुलन के साथ-साथ पर्यटन को बढ़ावा देने की दृष्टि से लखनऊ में जनेश्वर मिश्र पार्क का विकास करवा रही है, जिसमें अभी नव वर्ष पर लाखों की तादाद में लोग पहुंचे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी पेंशन योजना का लाभ गरीब घरों की महिला मुखियाओं को दिया जा रहा है। इसी प्रकार ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा तथा ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सर्विस के तहत लोगों को एम्बुलेन्स सेवा आसानी से उपलब्ध कराई जा रही है। 1090 वीमेन पावर लाइन ने महिलाओं में आत्मविश्वास का संचार किया है। किसानों को निःशुल्क सिंचाई सहित विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।

इस अवसर पर श्री यादव ने कहा कि श्रीमती श़बाना आज़मी की कल रिलीज़ होने वाली फिल्म ‘चाॅक एण्ड डस्टर’ को राज्य सरकार द्वारा टैक्स फ्री कर दिया गया है।
इससे पूर्व, संत गाडगे सभागार पहुंचने के उपरान्त मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम का दीप प्रज्ज्वलित कर उद्घाटन किया। उन्होंने स्व0 कै़फ़ी आज़मी के चित्र पर माल्यार्पण भी किया। इसके उपरान्त मुख्यमंत्री ने साहित्यकार श्री रवीन्द्र वर्मा, हिन्दी-उर्दू लेखिका सुश्री रख़्शंदा जलील तथा मशहूर थियेटर कलाकार श्रीमती नादिरा ज़हीर बब्बर को शाॅल, प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह् तथा प्रत्येक को एक-एक लाख रुपए के चेक भेंट कर सम्मानित किया।

कार्यक्रम को श्रीमती श़बाना आज़मी ने सम्बोधित करते हुए कहा कि हमारी प्रगति के लिए महिला सशक्तीकरण अत्यन्त आवश्यक है, जिस पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कला एक जरिया है, जिसके माध्यम से समाज में बदलाव लाया जा सकता है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि क़ैफ़ी अकादमी शुरु होने के उपरान्त वहां का कैफे कल्चरल हब के रूप में शीघ्र ही स्थापित होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री को फिल्म ‘चाॅक एण्ड डस्टर’ को टैक्स फ्री किए जाने के लिए धन्यवाद दिया।

कार्यक्रम को मुख्य सचिव श्री आलोक रंजन ने भी सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि क़ैफ़ी आज़मी एक बड़े शायर तो थे ही, साथ ही वे एक बेहतरीन इंसान भी थे। उन्होंने अपने क्षेत्र के विकास के लिए अनेक कार्य किए। राज्य सरकार उन्हीं से प्रेरणा लेते हुए प्रदेश के सर्वांगीण विकास में लगी हुई है।

आज सम्मानित की गई तीनों विभूतियों श्री रवीन्द्र वर्मा, सुश्री रख़्शंदा जलील तथा श्रीमती नादिरा ज़हीर बब्बर ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। समारोह को क़ैफ़ी अकादमी के जनरल सेक्रेटरी श्री सैय्यद सईद मेहदी ने भी सम्बोधित किया, जबकि श्री विलायत जाफरी ने उपस्थित लोगों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री श्री राजेन्द्र चैधरी, सुप्रसिद्ध अभिनेता श्री राज बब्बर के अलावा बड़ी संख्या में गणमान्य लोग उपस्थित थे।

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *