Akhilesh Yadav

Akhilesh Yadav and Hardik Patel press conference in Lucknow

अखिलेश यादव की प्रेस कांफ्रेस में हार्दिक पटेल बोले- देश मोदी सरकार से नहीं संविधान से चलता है

अखिलेश यादव के साथ सपा मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेस करने पहुंचे गुजरात के युवा नेता हार्दिक पटेल ने यूपी में हुए सपा-बसपा गठबंधन का स्वागत किया और कहा कि यह गठबंधन बहुत मजबूत है जो भाजपा को यूपी में हरा सकता है। उन्होंने कहा कि मैं यूपी के दौरे पर हूं। कल (बुधवार) प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, मिर्जापुर व सोनभद्र गया। लोग भाजपा के शासन से त्रस्त हैं। और उनसे छुटकारा चाहते हैं।

हार्दिक ने कहा कि मैं उन सभी लोगों के साथ हूं जो संविधान बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। केंद्र की मोदी सरकार संविधान विरोधी है। देश मोदी सरकार से नहीं संविधान से चलता है। भाजपा के लोग संविधान को नहीं मानते। पुलवामा हमले पर उन्होंने कहा कि मैंने अखिलेश यादव से सीआरपीएफ जवानों को पूर्ण सैनिक का दर्जा देने की मांग उठाने की बात कही।

हार्दिक ने सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब कोई वीवीआईपी जाता है तो 50 मिनट पहले ही सड़क बंद कर दी जाती है लेकिन सीआरपीएफ के जवान जिस सड़क से जा रहे थे उसे क्यों नहीं बंद करवाया गया। मामले की जांच होनी चाहिए और जो दोषी है उस पर कार्रवाई होनी चाहिए।

हार्दिक ने गुजरात मॉडल पर कहा कि जिस गुजरात मॉडल को पूरे देश में बेंचा जाता है। उसी गुजरात के 20 जिलों में सिंचाई का पानी उपलब्ध नहीं है। इस सरकार ने गुजरात मॉडल दिखाकर देश का बुरा हाल कर दिया है। आज किसान, नौजवान व महिलाएं सभी परेशान हैं। जो भी सरकार से सवाल पूछता है उसे देशद्रोही करार दिया जाता है। हमें इन लोगों से देशभक्ति सीखने की जरूरत नहीं है।

यूपी में कानून-व्यवस्था ध्वस्त

हार्दिक पटेल ने कहा कि 2017 का चुनाव कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर लड़ा गया लेकिन अब पूरे प्रदेश का बुरा हाल है। लोगों की एफआईआर नहीं लिखी जा रही है। जनता भाजपा से त्रस्त है। मुझे पूरी उम्मीद है कि आमचुनाव में जनता भाजपा के खिलाफ मतदान करेगी।

वहीं, अखिलेश यादव ने हार्दिक की तारीफ करते हुए कहा कि हार्दिक को नौ महीने जेल में रखा गया। छह महीने गुजरात में नहीं घुसने दिया। वह संघर्ष कर यहां तक पहुंचे हैं। भाजपा सरकार हमला करते हुए अखिलेश ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद जहां पूरा देश दुख में था वहीं भाजपा के लोग उद्घाटन व शिलान्यास कर रहे थे।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *