सोशल मीडिया हुई मजबूत, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक दर्जन पीडि़तो को दी सहायता

13 years old poor child gets chance to meet Chief Minister Akhilesh Yadav

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 27 सितम्बर, 2015 अपने सरकारी आवास, लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में कु0 सुषमा वर्मा को सम्मानित करते हुए।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 27 सितम्बर, 2015 अपने सरकारी आवास, लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में कु0 सुषमा वर्मा को सम्मानित करते हुए।

सोशल मीडिया हुई मजबूत, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक दर्जन पीडि़तो को दी सहायता

आज मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी ने अपने आवास पर विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय कार्य करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले 8 लोगो को सम्मानित किया।

“अमीर हो या गरीब सबका सम्मान होना चाहिए” – मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव

19 सितंबर को दरोगा की बदसलूकी का शिकार हुए बुजुर्ग टाइपिस्ट कृष्ण कुमार और इस मामले को सोशल मीडिया के सामने लाने वाले फोटोजर्नलिस्ट आशुतोष त्रिपाठी को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सम्मानित किया। इस मौके पर उन्होंने फोटोजर्नलिस्ट के काम की तारीफ की। वहीं, टाइपिस्ट कृष्ण कुमार को एक लाख रुपए देकर सम्मानित किया।

पहले टाईपराडर और अब एक लाख का चेक……

लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर सीएम अखिलेश यादव ने टाइपिस्ट किशन कुमार को किया सम्मानित सीएम अखिलेश यादव ने सम्मानित और एक लाख रुपये की चेक सौंपी और उनसे काफी देर तक बातें भी कीं सीएम अखिलेश ने बुजुर्ग टाइपिौस्ट के साथ बदसुलूकी की घटना को निंंदा करते हुए कहा, पुलिरस को नैतििकता सीखनी चा‌हिीए

सम्मान समारोह के दौरान सीएम अखिलेश ने कहा कि अच्छे लोगों का सम्मान करके अच्छा लगता है बता दें कि बीते दिनों लखनऊ जीपीओ के बाहर बैठने वाले टाइपिस्ट किशन कुमार के साथ दरोगा प्रदीप कुमार ने बदसुलूकी की थी, ‌किाशन उनसे ऐसा न करने के लिेए हाथ जोड़कर गिरड़गि ड़ाते रहे थे पर उसने उनकी एक न सुनी
दरोगा प्रदीप कुमार ने बुर्जुग टाइपिस्ट के टाइपराइटर को लात भी मार दी थी जिससे उनका टाइपराइटर टूट गया था।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव तथा बुजुर्ग टाइपिस्ट कृष्ण कुमार
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव तथा बुजुर्ग टाइपिस्ट कृष्ण कुमार

सीएम अखिलेश यादव ने फोटोजर्नलिस्ट आशुतोष त्रिपाठी से कहा, ‘आप मुद्दों को ऐसे ही उजागर करते रहिए, जिससे सरकार और शासन-प्रशासन का ध्यान उस ओर जाए और उनकी मदद हो सके। सरकार बुजुर्ग टाइपिस्ट की मदद सिर्फ फोटोजर्नलिस्ट की फोटो के कारण ही कर पाई, नहीं तो कई चीजों की तरह यह बात भी दबी रह जाती।’

हरेंद्र सिंह
हरेंद्र सिंह

सीएम अखिलेश यादव ने आज जिन लोगों को सम्मानित किया, वे सभी पिछले दिनों अलग-अलग कारणों से सोशल मीडिया पर छाए रहे हैं। इन सभी के पक्ष में बड़ी संख्या में लोगों ने ट्विट और पोस्ट किए हैं। इनमें से नोएडा के सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन के बाहर वेइंग मशीन से लोगों का वजन करने के साथ वहीं बैठकर पढ़ाई करने वाला स्टूडेंट हरेंद्र सिंह, 15 साल की उम्र में पीएचडी करने वाली सुषमा और बलिया में करीब एक दर्जन लोगों की जान बचाने वाले नाविक भी शामिल हैं।

19 सितंबर को इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार लखनऊ के हजरतगंज के नजदीक जीपीओ चौराहे पर पहुंचे। वे सड़क किनारे दुकान चलाने वालों का सामान तोड़ने लगे। इसी दौरान वहां एक बुजुर्ग टाइपि‍स्‍ट कृष्‍ण कुमार का टाइपराइटर उठाकर उन्‍होंने फेंक दिया। बुजुर्ग टाइपि‍स्‍ट हाथ जोड़कर अपनी रोजी-रोटी की दुहाई देते रहे, लेकि‍न इंस्पेक्टर ने इसे अनसुना कर दि‍या। सड़क किनारे चाय लगाने वालों के बर्तन भी फेंक दिए। इससे वहां रखा दूध फैल गया।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 27 सितम्बर, 2015 अपने सरकारी आवास, लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों के साथ।
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव 27 सितम्बर, 2015 अपने सरकारी आवास, लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों के साथ।

जब यह घटना हुई तब का फोटो जर्नलिस्ट वहीं मौजूद था। अपनी हरकत को कैमरे में कैद होता देख इंस्पेक्टर ने फोटो जर्नलिस्ट को धमकी भी दी, यह खबर सोशल मिडिया पर आते ही लखनऊ पुलिस हरकत में आ गई। इंस्पेक्टर की फोटोज़ सोशल मीडिया पर शेयर हो गईं। देर रात यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने डीएम और एसएसपी को बुजुर्ग के घर जाकर एक नहीं, बल्कि दो-दो टाइपराइटर सौंपने का फरमान दिया। इस बीच, बुजुर्ग के साथ बदसलूकी कर रहे इंस्पेक्टर की फोटोज़ को परिणीति चोपड़ा जैसी हस्ती ने भी री‌-ट्वीट किया।

सांसद डिम्पल की बजह से बदला इस बच्चे का भविष्य, मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव मिलेंगे आज

पढऩे की ललक देख मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हरेंद्र को बुलाया’

सोशल मीडिया पर आर्थिक रूप से कमजोर छात्र हरेंद्र सिंह की स्थिति देख प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का दिल पिघल गया। उन्होंने न सिर्फ जिला प्रशासन से उसकी मदद करने को कहा, बल्कि खुद मिलने के लिए भी बुलावा भेजा।

मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव तथा हरेंद्र सिंह
मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव तथा हरेंद्र सिंह

नोएडा के कक्षा-9 के छात्र पर जब गरीबी के कारण पढ़ाई छोड़ने की नौबत आई तो उसने काम करना शुरू कर दिया और पढ़ाई भी जारी रखी।काम करते हुए छात्र की फोटो सोशल मीडिया पर पहुंची तो इसे सांसद डिंपल यादव ने देखा। अब बच्चे को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ बुलाया है।

एडीएम राजेश यादव उसे लेकर रविवार को लखनऊ जाएंगे। दरअसल, इटावा के ग्राम नगला चौहान निवासी हरेंद्र सिंह (13) गरीब परिवार से है। उसके पिता रामगोपाल चौहान की तबीयत भी ठीक नहीं रहती है।

कुछ साल पहले रामगोपाल होशियारपुर गांव में किराये का कमरा लेकर रहने लगे। हरेंद्र का दाखिला नोएडा स्थित श्रीकृष्ण इंटर कॉलेज, गढ़ी चौखंडी में करा दिया गया। इसके बाद रामगोपाल की तबीयत और खराब हो गई।

हरेंद्र सिंह
हरेंद्र सिंह

छात्र ने परिवार वालों से जिद की कि वह पढ़ाई किसी भी हालत में नहीं छोड़ेगा। पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए काम करेगा। लेकिन उसे जब कहीं काम नहीं मिला तो परिवार वालों से थोड़े पैसे का इंतजाम करके नोएडा के सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन के नीचे उसने वजन तौलने वाली मशीन लगा दी।

वह हर दिन 50-60 रुपये कमाने लगा। छात्र की लगन की बात सोशल मीडिया के जरिए फैल गई। जिलाधिकारी एनपी सिंह ने बताया है कि छात्र हरेंद्र को रविवार को लखनऊ लेकर जाना है।

छात्र के बारे में पहले सांसद डिंपल यादव को जानकारी मिली थी। अब स्वयं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मिलना चाहते हैं। मैं खुद हरेंद्र को लेकर लखनऊ जाऊंगा। – राजेश यादव, एडीएम गौतमबुद्धनगर

Musing India
Author: Musing India

musingindia.com is a leading company in Hindi / English online space. musingindia.com is a leading company in Hindi/English online space. Launched in 2013, musingindia.com is the fastest growing Hindi/English news website in India, and focuses on delivering around the clock national and international news and analysis, business, sports, technology entertainment, lifestyle and astrology. As per Google Analytics, musingindia.com gets 10,000 Unique Visitors every month.

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

One Reply to “13 years old poor child gets chance to meet Chief Minister Akhilesh Yadav”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *